दिल्ली यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर के खिलाफ पुलिस में शिकायत, सामने आई ये वजह

दिल्ली यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर के खिलाफ पुलिस में शिकायत, सामने आई ये वजह
काफी समय से स्टूडेंट्स डीयू की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं.

शिकायत दर्ज कराने वाले छात्रों ने डीयू ओपन बुक एग्जामिनेशन (DU Open Book Examination) की प्रक्रिया में निजता के हनन का आरोप लगाया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली यूनिवर्सिटी पिछले करीब एक महीने से लगातार सुर्खियों में बनी हुई है. छात्र ओपन बुक परीक्षा के कारण होने वाली परेशानियों के बारे में लगातार आवाज़ उठाते रहे हैं लेकिन इन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया. हालांकि, इस मामले में एनएसयूआई के दिल्ली अध्यक्ष अक्षय लकड़ा और पूर्व डूसु अध्यक्ष अरुण हुड्डा ने दिल्ली के वाइस चांसलर के खिलाफ निजता के उल्लंघन (Breach of privacy) पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट में परीक्षा कैंसिल करने और छात्रों को प्रमोट करने के लिए 16 याचिकाएं भी डाली गई हैं.

छात्रों का डेटा हो सकता है चोरी
छात्रों के मुताबिक, आगामी ओपन बुक एग्जाम में फाइनल ईयर एग्जाम के लिए सभी छात्रों के गेटवे पासवर्ड एक ही हैं. छात्रों का कहना है कि कॉमन गेटवे पासवर्ड होने की वजह से किसी भी छात्र की निजी सूचनाओं को ऐक्सेस किया जा सकेगा. अगर किसी के भी पास किसी का नाम और रोल नंबर है तो वह व्यक्ति किसी भी छात्र का एडमिट कार्ड, फोन नंबर, घर का पता, बैंक अकाउंट नंबर, आधार कार्ड और दूसरे सेंसिटिव डेटा को ऐक्सेस कर सकता है. इसके जरिए एडमिशन के टाइम पर भरे गए सारे डेटा को ऐक्सेस किया जा सकता है.

मोरिस नगर थाने में हुई शिकायत
इसकी शिकायत मोरिस नगर पुलिस स्टेशन में की गई है. छात्रों ने अपना डर और मेंटल स्ट्रेस को जाहिर किया. उनका कहना है कि उन्हें अज्ञात नंबरों से कॉल्स आ रही हैं. अक्षय लकड़ा ने कहा, 'हम लोग चूहे नहीं है जिस पर दिल्ली यूनिवर्सिटी प्रयोग कर रही है. हम परीक्षा को कैंसिल किए जाने और सभी छात्रों को प्रमोट किए जाने की मांग करते हैं.'



ओपन बुक एग्जाम मॉक टेस्ट में आई थीं दिक्कतें
कोरोना वायरस का कहर अभी खत्म भी नहीं हुआ है और दिल्ली यूनिवर्सिटी ने ओपन बुक एग्जाम के लिए मॉक टेस्ट शुरू कर दिया है. इस पूरी प्रक्रिया में छात्रों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा क्योंकि उन्हें लॉगइन करने में दिक्कत आ रही थी. चूंकि वेबसाइट लगातार क्रैश हो रही थी इसलिए छात्रो को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा. प्रश्नपत्र एक कोर्स के दूसरे कोर्स से मिले हुए थे. कई छात्रों को प्रश्नपत्र नहीं मिल पाया. कुछ छात्रों को ओटीपी मिलने में आधे घंटे लग गए. काफी छात्रो ने कनेक्टिविटी को लेकर भी शिकायत की.

कनेक्टिविटी को लेकर भी हो रही दिक्कत
जो छात्र ऐसे क्षेत्रों में रहते हैं जहां कनेक्टिविटी की दिक्कत है उन्हें कॉपी अपलोड करने और प्रश्नपत्र डाउनलोड करने में परेशानी का सामना करना पड़ा. ऐसे में छात्रों को परीक्षा देने में काफी दिक्कत होगी. कुछ छात्रों के पास रीडिंग मटीरियल और किताबें भी उपलब्ध नहीं हैं.

ये भी पढ़ें
9वीं, 11वीं में फेल छात्रों के लिए केंद्रीय विद्यालय ने लिया बड़ा फैसला, पढ़ें
बदले पैटर्न में कैसे करें UPPCS इंटरव्यू की तैयारी, जानें सारी डिटेल

छात्रों ने अब दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है. उन्हें लगता है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी उनके उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी है. दिल्ली हाईकोर्ट में इस हफ्ते सुनवाई होने की उम्मीद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading