होम /न्यूज /करियर /'बजट' की प्रिंटिंग में थे तैनात, पिता के निधन के बाद घर न जाकर पेश की मिसाल

'बजट' की प्रिंटिंग में थे तैनात, पिता के निधन के बाद घर न जाकर पेश की मिसाल

वित्त मंत्रालय में डिप्टी मैनेजर  के पद पर काम करने वाले कुलदीप कुमार शर्मा के पिता का निधन हो गया वह घर नहीं गए.

वित्त मंत्रालय में डिप्टी मैनेजर के पद पर काम करने वाले कुलदीप कुमार शर्मा के पिता का निधन हो गया वह घर नहीं गए.

वित्त मंत्रालय में डिप्टी मैनेजर (मीडिया) के पद पर काम करने वाले कुलदीप कुमार शर्मा के पिता का निधन हो गया और ऐसे समय म ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. एक फरवरी मतलब कि कल देश का बजट आने वाला है. इसका देश के हर नागरिक को  इंतजार है, लेकिन इन्हीं सब के बीच एक परिवार ऐसा भी है, जिसको अपने बेटे के घर आने का सिद्दत से इंतजार है.

    दरअसल वित्त मंत्रालय में डिप्टी मैनेजर (मीडिया) के पद पर काम करने वाले कुलदीप कुमार शर्मा के पिता का निधन हो गया और ऐसे समय में उनको घर जाना चाहिए था. लेकिन कुलदीप कुमार बजट जैसे महत्वपूर्ण और गोपनीय काम के दौरान उनके पिता का निधन हो गया, लेकिन इस दुख की घड़ी में भी उन्होंने काम के लिए परिवार और उनके दायित्व को पीछे छोड़ दिया.

    Duty, finance ministry, official misses, Nirmala Sitharaman , Deputy Manager, officer, father, death, Budget, पिता की मौत, बजट प्रिंटिंग, अधिकारी, वित्त मंत्रालय, तारीफ, निर्मला सीतीरमण

    शर्मा फिलहाल बजट ड्यूटी पर हैं और दस दिनों के लिए नॉर्थ ब्लॉक के अंदर लॉक हैं. कुलदीप कुमार शर्मा, 22 जनवरी से बजट प्रिंटिंग के काम में लगे हैं. वहीं 26 जनवरी 2020 को उनके पिता का निधन हो गया, लेकिन उन्होंने अपने काम को प्राथमिकता दी. कुलदीप अभी भी नॉर्थ ब्लॉक के अंदर बजट की छपाई में लगे हैं. शर्मा के इस फैसले के बाद वित्त मंत्रालय ने कुलदीप की तारीफ की है.

    वित्त मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'दुख के साथ सूचित कर रहा हूं कि श्री कुलदीप कुमार शर्मा, डिप्टी मैनेजर (मीडिया) के पिता का निधन 26 जनवरी 2020 को हो गया है. शर्मा फिलहाल बजट ड्यूटी पर हैं और दस दिनों के लिए नॉर्थ ब्लॉक के अंदर लॉक हैं. इतने बड़े नुकसान के बाद भी शर्मा ने तय किया है कि वो एक मिनट के लिए भी अपनी जिम्मेदारी नहीं छोड़ेंगे.'





    हफ्ते भर के लिए अधिकारी हो जाते हैं कैद
    आपको बता दें कि इस बार 22 जनवरी को हलवा सेरेमनी के साथ ही बजट की प्रिंटिंग के लिए एक टीम नॉर्थ ब्लॉक के अंदर लॉक हो गई है. वो एक फरवरी को बाहर निकलेंगे. दरअसल दस दिनों तक बजट की प्रिंटिंग का काम होता है. इस दौरान गोपनीयता बरकरार रखने के लिए सभी संबंधित कर्मचारियों को बाहर नहीं निकलने दिया जाता है.

    Duty, finance ministry, official misses, Nirmala Sitharaman , Deputy Manager, officer, father, death, Budget, पिता की मौत, बजट प्रिंटिंग, अधिकारी, वित्त मंत्रालय, तारीफ, निर्मला सीतीरमण
    1 फरवरी 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट पेश करेंगी.


    इस तरह की विशेष परिस्थिति में ही उन्हें बाहर निकलने की इजाजत होती है. लेकिन कुलदीप कुमार शर्मा ने अपने काम की गंभीरता को समझते हुए बजट की गोपनीयता बरकरार रखने के लिए अपने पिता की अंत्येष्टि में नहीं जाने का फैसला किया है.

    ये भी पढ़ें- CBSE Board exam 2020: 10वीं साइंस स्ट्रीम में लाना चाहते हैं अच्छे अंक तो ऐसे करें पढ़ाई

    Tags: Budget 2020, Finance ministry, Nirmala sitharaman

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें