Home /News /career /

Exam Stress: क्या आपका बच्चा तनाव में है? इन तरीकों से समझें एग्जाम स्ट्रेस के लक्षण

Exam Stress: क्या आपका बच्चा तनाव में है? इन तरीकों से समझें एग्जाम स्ट्रेस के लक्षण

Exam Stress: बच्चे का व्यवहार बदल रहा हो तो उसे समझने की कोशिश करें

Exam Stress: बच्चे का व्यवहार बदल रहा हो तो उसे समझने की कोशिश करें

Exam Stress, Parenting Tips, Anxiety Symptoms: परीक्षाओं के दौरान ज्यादातर छात्र तनाव में चले जाते हैं. कई छात्रों को एग्जाम स्ट्रेस (Exam Stress) के कारण प्रोफेशनल हेल्प तक की जरूरत पड़ जाती है. अगर पेरेंट्स सही वक्त पर अपने बच्चे की परेशानी समझ जाएं तो उससे बाहर निकालने में उनकी पूरी मदद कर सकते हैं (Parenting Tips). हालांकि इसके लिए उन्हें एंग्जाइटी के लक्षण (Anxiety Symptoms) व कई अन्य चीजों की पूरी जानकारी होनी चाहिए. अगर बच्चे बिना किसी स्ट्रेस के परीक्षा देंगे तो यकीनन नंबर भी बेहतर हासिल कर सकेंगे (Exam Tips).

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली (Exam Stress, Parenting Tips, Anxiety Symptoms). परीक्षाओं के दौरान स्ट्रेस (Exam Stress) हो जाना बहुत आम बात है. कई छात्रों पर इसका गहरा इंपैक्ट पड़ता है और उन्हें प्रोफेशनल हेल्प तक का सहारा लेना पड़ जाता है. हालांकि अगर माता-पिता चाहें तो अपने बच्चों को एग्जाम स्ट्रेस से बाहर निकाल सकते हैं (Parenting Tips). इसके लिए उन्हें एंग्जायटी के सही लक्षण (Anxiety Symptoms) पता होने चाहिए.

बोर्ड परीक्षा (Board Exams 2022) को लेकर ज्यादातर बच्चों के मन में एक डर होता है. उन्हें शुरू से ही इस तरह से कंडीशन किया जाता है कि वे बोर्ड परीक्षा के नाम तक से घबराने लग जाते हैं. 10वीं-12वीं की परीक्षा टफ होती है लेकिन इतनी भी नहीं कि उसका असर बच्चे के दिमाग पर पड़ने लग जाए. जानिए कुछ ऐसे तरीके (Parenting Tips), जिनसे परीक्षाओं के दौरान बच्चों का व्यवहार समझने में मदद मिल सकती है.

इस वजह से ज्यादा तनाव में हैं बच्चे
2 सालों में बच्चों की लाइफस्टाइल पूरी तरह से बदल गई है. वे घर पर रहने के आदी हो गए हैं. अब अचानक से परीक्षाओं के लिए स्कूल जाने की बात सोचकर भी वे घबरा रहे हैं. इस दौरान उन्हें अपने माता-पिता और टीचर्स के सपोर्ट की जरूरत है.

ऐसे पहचानें बच्चों में तनाव की स्थिति
कई पेरेंट्स इस बात को स्वीकार नहीं पाते हैं कि उनका बच्चा एंग्जाइटी का शिकार है (Anxiety Symptoms). अगर आपको अपने बच्चे का व्यवहार बदला हुआ नजर आ रहा है तो उस पर एक्सट्रा ध्यान देना शुरू कर दें. हालांकि इसका मतलब बच्चे पर नजर रखना बिल्कुल भी नहीं है.

क्या वे ठीक से सो रहे हैं?
अगर आपका बच्चा रात को ठीक से सो नहीं रहा है या किसी अन्य तरीके से उसका स्लीपिंग शेड्यूल (Sleeping Schedule) बिगड़ा हुआ है तो यह एंग्जाइटी का ही इशारा है.

क्या बच्चा ठीक से खा-पी रहा है?
एंग्जाइटी का दूसरा लक्षण है भूख न लगना. अगर आपको बच्चे के ईटिंग शेड्यूल में किसी भी तरह का बदलाव नजर आ रहा है तो उस पर ध्यान देने का वक्त आ गया है.

ऐसे दूर करें एग्जाम स्ट्रेस
बच्चों का तनाव कम करने के लिए उन्हें रोजाना एक्सरसाइज, योग और खेलने की सलाह दें. भले ही बच्चों का एग्जाम टाइम चल रहा हो, लेकिन आधे से एक घंटा उन्हें खेलने या रेस्ट करने के लिए जरूर दें. इससे बच्चों में पॉजिटिव एनर्जी आती है.

ये भी पढ़ें:
UPTET 2021 Result: यूपी चुनाव की वजह से टल सकता है UPTET रिजल्ट, यहां देखें बड़ा अपडेट
UPSC Exam: इस उम्र तक बन सकते हैं किसी भी शहर के DM, जानिए सभी जरूरी बातें

Tags: Anxiety, Board exams, Parenting tips, Symptoms

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर