लाइव टीवी
Elec-widget

सावधान! शोध में हुआ खुलासा फेसबुक से बिगड़ता है आपके बच्चे का ग्रेड


Updated: November 13, 2019, 12:55 PM IST
सावधान! शोध में हुआ खुलासा फेसबुक से बिगड़ता है आपके बच्चे का ग्रेड
फेसबुक

शर्त ये है कि वे सोशल नेटवर्किंग साइटों (Social Networking Sites), खासकर फेसबुक (Facebook Addiction) पर कम समय गंवाएं.

  • Last Updated: November 13, 2019, 12:55 PM IST
  • Share this:
सिडनी. माता-पिता, ध्यान दें. यदि आप चाहते हैं कि आपके बच्चे परीक्षा में अच्छे ग्रेड प्राप्त करें, तो उन्हें सोशल मीडिया छोड़ने (Social Media Addiction) के लिए कहें. शोधकर्ताओं ने पाया है कि जिन छात्रों के ग्रेड औसत से कम आते हैं, वे अपने प्रदर्शन को बेहतर कर सकते हैं. शर्त ये है कि वे सोशल नेटवर्किंग साइटों (Social Networking Sites), खासकर फेसबुक (Facebook Addiction) पर कम समय गंवाएं.

'कंप्यूटर्स एंड एजुकेशन' में प्रकाशित एक लेख मे इस शोध के विषय में बताया गया है. शोध में यह देखा गया कि विश्वविद्यालय में पहले वर्ष के छात्र सोशल मीडिया पर कितना समय व्यतीत करते हैं और इसका उनके परीक्षा अंको पर कितना असर पड़ा. 19 साल की उम्र के लगभग 500 छात्रों ने अध्ययन में हिस्सा लिया. ये सभी छात्र एक ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष के छात्र थे.

यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी सिडनी (यूटीएस) के शोध से पता चला है कि उच्च अंक प्राप्त करने वाले छात्र फेसबुक पर बिताए समय की मात्रा से प्रभावित नहीं होते. जबकि औसत से कम क्षमता वाले छात्रों के ग्रेड पर फेसबुक इस्तेमाल करने का असर साफ देखा गया.

यूटीएस के शोधकर्ता जेम्स वेकफील्ड ने कहा कि हमारे शोध से पता चलता है कि सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म पर बिताया गया समय औसत छात्रों को विफल करने में बड़ा असर डालता है. अध्ययन में भाग लेने वाले छात्र औसतन प्रतिदिन लगभग दो घंटे फेसबुक पर बिताते थे. जबकि कुछ छात्र सोशल नेटवर्किंग साइट पर प्रतिदिन आठ घंटे से अधिक समय बिताते थे.

Attribution-NonCommercial 4.0 International
Students


वेकफील्ड ने कहा कि कम अंक प्राप्त करने वाले छात्र पहले से ही अनुशासित नहीं थे. उनकी एकाग्रता भी कम रहती है. इस पर फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म ऐसे छात्रों का ध्यान और अधिक भंग करता है. दिन में तीन घंटे फेसबुक इस्तेमाल करने पर अंकों में 10 फीसदी की गिरावट होती है. यह फेसबुक इस्तेमाल के दिन में दो घंटे के औसत समय से थोड़ा है ज्यादा है. फिर भी 60 अंकों की परीक्षा में 6 अंक खो देना ग्रेड में बड़ा अंतर ला सकता है.

शोधकर्ताओं को ऐसा लगता है कि कम क्षमता वाले छात्रों की पढ़ाई का समय फेसबुक पर ज़ाया हो रहा है जबकि पढ़ाई के प्रति जागरुक छात्र अपने सोशल नेटवर्किंग का समय घटा कर पढ़ाई करते हैं.
Loading...

शोधकर्ताओं के अनुसार, औसत ग्रेड वाले छात्रों को अपने फोन पर नोटिफिकेशन्स ऑफ करने औऱ फेसबुक पर कम समय व्यतीत करने से लाभ हो सकता है. शैक्षणिक उपयोग के लिए फेसबुक या सोशल नेटवर्किंग साइट्स का इस्तेमाल भी उनके ग्रेड पर विपरीत असर डालता है.

ये भी पढ़ें:

अमेरिकियों को इस तरह विज्ञान समझा रही है एक भारतीय लड़की

वियतनाम के जंगलों में 30 साल बाद दिखा यह अजीब जानवर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 12:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...