इस राज्य में खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी में मिलेगा में 5% आरक्षण

पहले खाने के हर दिन  690 रुपये मिलते थे
पहले खाने के हर दिन 690 रुपये मिलते थे

ऐसा देखा गया है कि अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में लगातार पदक हासिल करने के बाद भी खिलाड़ियों को नौकरी से वंचित रहना पड़ता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 5:07 PM IST
  • Share this:
मध्य प्रदेश में खिलाड़ियों को भी अब शासकीय नौकरियों में पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिलेगा. इसके अलावा, स्कूली स्तर पर खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए अंडर-16 प्रांतीय ओलम्पिक शुरू किया जायेगा. मध्य प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण मंत्री जीतू पटवारी ने ग्वालियर के कम्पू खेल परिसर में प्रांतीय ओलम्पिक खेलों का शुभारंभ करते हुए यह घोषणा की.

पटवारी ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में लगातार पदक हासिल करने के बाद भी खिलाड़ियों को नौकरी से वंचित रहना पड़ता है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री (कमलनाथ) की मंशा अनुसार नई खेल नीति में यह व्यवस्था की जा रही है कि शासकीय नौकरी में खिलाड़ियों को पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिल सके.’’

उन्होंने कहा कि अंडर-16 प्रांतीय ओलम्पिक में सीबीएसई, सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के बच्चे शामिल होंगे. अभी यह स्पर्धा केवल 16 वर्ष तक के बच्चों में से प्रतिभा चयन के लिये आयोजित की जा रही है.



पटवारी ने बताया कि इसमें दस खेल हॉकी, बास्केटबॉल, फुटबॉल, वॉलीबॉल, कबड्डी, खो-खो, एथलेटिक्स, कुश्ती, बैडमिंटन और टेबिल टेनिस शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि प्रांतीय ओलम्पिक खेल का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में खेलों के प्रति युवाओं में जागरूकता लाना, खेलों को सर्वसुलभ बनाना, प्रतिभावान खिलाड़ियों की पहचान करना तथा उन्हें आधुनिक सुविधा और प्रशिक्षण प्रदान करना है. (इनपुट-भाषा)
ये भी पढे़ं-
Govt Jobs in Maharashtra: सिटी कोऑर्डिनेटर के लिए 384 वैकेंसी, सैलरी 30000
JNU हॉस्टल फीस मामला: स्टूडेंट्स से मांगा जाएगा हल, उच्च-स्तरीय समिति गठित
Govt Jobs: प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 76 वैकेंसी

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज