• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • IAS-IPS बनने के लिए हर कोई इस यूनिवर्सिटी की तरफ लगाता है दौड़

IAS-IPS बनने के लिए हर कोई इस यूनिवर्सिटी की तरफ लगाता है दौड़

residential coaching academy.

residential coaching academy.

यह कोचिंग जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी (Jamia millia islamia university) में चलती है. कोचिंग में 24 घंटे खुलने वाली एसी लाइ्ब्रेरी भी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश की इस नामी-गिरामी यूनिवर्सिटी में चलने वाली रेजीडेंशियल कोचिंग एकेडमी (Residential coaching academy) सिविल सर्विस एग्जाम (Civil service exam) की तैयारी कराती है. 2019 में ही इस कोचिंग के एक छात्र ने देशभर में तीसरा स्थान हासिल किया था. इस कोचिंग के 45 छात्र सिविल सर्विस में सिलेक्ट हुए थे. उसके बाद से कोचिंग का ग्राफ ऐसे चढ़ा कि कोचिंग के लिए आने वाली एप्लीकेशन का नंबर दोगुना हो गया. यह कोचिंग जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी (Jamia millia islamia university) में चलती है. कोचिंग में 24 घंटे खुलने वाली एसी लाइ्ब्रेरी भी है.

    7 से 13 हज़ार पर पहुंचा एप्लीकेशन का आंकड़ा

    सेंटर फॉर कोचिंग एंड कैरियर प्लानिंग एकेडमी के डिप्टी डायरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक ने बताया कि एक वक्त ऐसा भी था कि जब इस कोचिंग के लिए 800 तक एप्लीकेशन फॉर्म आते थे. उसके बाद यह नंबर 1600 तक पहुंच गया. 2018 में रिकॉर्ड 7245 फॉर्म आए थे. जबकि 2019 में तो जो हुआ उसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था. कोचिंग में एंट्रेंस के लि होने वाली एग्जाम में बैठने के लिए 13129 एप्लीकेशन फॉर्म हमे मिले. यह अब तक का एक रिकॉर्ड है.

    2019 में सिविल सिर्वस के लिए 45 छात्र हुए थे सिलेक्ट

    डिप्टी डायरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक का कहना है कि बीते दो-तीन साल में एप्लीकेशन फॉर्म का नंबर बढ़ने की एक वजह कोचिंग का रिजल्ट भी है. 2018 में हमारे यहां के 27 तो 2019 में 45 बच्चे सिविल सर्विस के लिए सिलेक्ट हुए थे. अभी तक 200 से ज़्यादा बच्चे सिविल सर्विस में और 250 से ज़्यादा बच्चे केन्द्रीय और प्रांतीय सेवाओं में जा चुके हैं.

    residential coaching academy.


    कोचिंग में 500 घंटे की क्लास से तैयार होते हैं छात्र

    प्रो. मोहम्मद तारिक ने बताया कि कोचिंग में 208 सीट हैं. इसी के लिए एंट्रेस एग्जाम होता है. लेकिन ऐसा नहीं है कि हमे 208 सीट को भरना जरूरी होता है. अगर कोई परीक्षार्थी पैरामीटर पर खरा नहीं उतरता है तो हम सीट खाली भी छोड़ देते हैं. लेकिन कोई समझौता नहीं करते. हमारे यहां 24 घंटे खुली रहने वाली लाइब्रेरी भी है. मुफ्त वाई-फाई मुहैया कराया जाता है. हॉस्टल सुविधा भी दी जाती है. ग्रुप डिस्कशन, बहुत सारी परीक्षाएं और मॉक इंटरव्यू के जरिए छात्रों को पूरी तरह से तैयार करते हैं.

    ये भी पढ़ें-

    Covid 19: किसने कहा, हम 500ml प्लाज़्मा ही नहीं खून की आखिरी बूंद भी देने को तैयार

    Covid 19: दिल्ली सरकार ने नहीं सुनी तो अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन ने Facebook पर किया जमातियों को लेकर बड़ा खुलासा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज