लाइव टीवी

JNU के गेट अब शाम 6 बजे होंगे बंद, छात्रों ने बताया ‘फ्रीडम ऑफ मूवमेंट’ का हनन

News18Hindi
Updated: October 23, 2019, 11:31 AM IST
JNU के गेट अब शाम 6 बजे होंगे बंद, छात्रों ने बताया ‘फ्रीडम ऑफ मूवमेंट’ का हनन
जेएनयू के गेट शाम 6 बजे बंद होने पर स्‍टूडेंट्स ने खोला मोर्चा

AISA ने कुलपति पर आरोप लगाया, वह हमें पढ़ने के लिए उचित ढांचा उपलब्ध कराने में असफल रहे हैं और छात्र समुदाय पढ़ाई के लिए अब भी जिन स्थानों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 11:31 AM IST
  • Share this:
ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन एआईएसए, (All India Students' Association, AISA) ने मंगलवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय  (Jawaharlal Nehru University, JNU) के प्रशासन पर कैंपस के गेट शाम छह बजे के बाद बंद करने पर विरोध जताया है. एसोसिएशन का कहना है कि कैंपस के गेटों को शाम छह बजे बंद कर देना आवाजाही की स्वतंत्रता को सीमित करना है. हालांकि, प्रशासन ने कहा कि यह कदम छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और बाहरी लोगों के इमारत में प्रवेश को रोकने के उद्देश्य से लिया गया है.

ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन का कहना है कि जेएनयू प्रशासन ने मंगलवार सुबह स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज (एसआईएस) के छात्रों को नोटिस भेजकर गेट बंद होने के समय के बारे में जानकारी दी.

AISA ने कुलपति पर आरोप लगाया, वह हमें पढ़ने के लिए उचित ढांचा उपलब्ध कराने में असफल रहे हैं और छात्र समुदाय पढ़ाई के लिए अब भी जिन स्थानों का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन तक भी पहुंच को अब मुश्किल बनाया जा रहा है.

वहीं  इस बारे में एसआईएस के डीन प्रोफेसर अश्विनी कुमार महापात्र ने कहा कि इमारत में चार प्रवेश द्वार हैं और छात्रों के प्रवेश की निगरानी करना मुश्किल है. पिछले रविवार को, एक आदमी और एक महिला इमारत में दाखिल हुए थे और जब उनका सामना किया गया, तो पता चला कि वे बाहरी हैं. इस लिहाज से ये फैसला लिया गया है. इस कदम का उद्देश्य छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए और यह सुनिश्चित करने के लिए कि बाहरी लोग प्रवेश करने में सक्षम नहीं हैं.

ये भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 11:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...