अब सैनिक स्कूल में पढ़ाई कर सकेंगी लड़कियां, जानिए कैसे मिलेगा प्रवेश

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 11:18 AM IST
अब सैनिक स्कूल में पढ़ाई कर सकेंगी लड़कियां, जानिए कैसे मिलेगा प्रवेश
अब सैनिक स्कूल में लड़कियों को मिलेगा दाखिला, केंद्र सरकार शुरू कर रही है योजना

पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के बाद केंद्र सरकार अब शैक्षणिक सत्र 2020 में देश के सभी 26 सैनिक स्कूलों (Sainik Schools) में बेटियों को दाखिला दिलाने के लिए नए नियम बनाने जा रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 11:18 AM IST
  • Share this:
अब सैनिक स्‍कूल में लड़कियां भी पढ़ाई कर सकेंगी. जी हां, शारीरिक, मानसिक और शैक्षणिक रूप से मजबूत और जांबाज सैनिक तैयार करने वाली नर्सरी के तौर पर संचालित देश के सैनिक स्‍कूलों (Sainik Schools) में अब लड़कियां भी लड़कों के साथ पढ़ेंगी. ये फैसला केंद्र सरकार ने मिजोरम में शुरू हुए पायलट प्रोजेक्‍ट के तहत लिया है. पायलट प्रोजेक्‍ट के तहत 30 छात्राओं को छठी कक्षा में दाखिला दिलाया गया था. पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के चलते केंद्र सरकार अब शैक्षणिक सत्र 2020 में देश के सभी 26 सैनिक स्कूलों में बेटियों को दाखिला दिलाने के लिए नियमों में बदलाव की योजना बना रही है.

इस योजना के तहत पहले सालों में सैनिक स्कूल में लड़कियों की संख्या भी आईआईटी की तर्ज पर गर्ल्स सुपर न्यूमेरी कोटे के रूप में बढ़ाई जाएगी, जैसे पहले साल दस फीसदी, अगले साल पंद्रह और फिर 20 फीसदी. सरकार की इस पहल से जो लड़कियां भारतीय सेना में भविष्‍य बनाना चाहती हैं, उनको इस कदम से बहुत फायदा मिलेगा.



दरअसल सैनिक स्कूल में पढ़ाई के दौरान स्कूली छात्रों में देश सेवा की भावना जागृत होती है, क्योंकि पढ़ाई के साथ-साथ कठिन अनुशासन सेना में नौकरी के लिहाज से बिल्कुल सटीक बैठता है. ऐसे में लड़कियों  को बेहद फायदा मिलेगा.

लंबे समय से उठ रही थी मांग
अभी तक सैनिक स्‍कूलों में छठी से 12वीं कक्षा तक आवासीय स्कूल में लड़के ही पढ़ाई कर सकते थे. लड़कियों को इसमें दाखिला नहीं मिलता था. हालांकि, करीब तीन सालों से लड़कियों को भी सैनिक स्कूलों में भी दाखिला दिलवाने की मांग उठ रही थी.

स्‍कूलों में बढ़ानी होंगी ये सुविधाएं
Loading...

सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार ने सैनिक स्कूलों में लड़कियों को प्रवेश दिलाने के लिए राज्य सरकारों को अपने-अपने सैनिक स्कूल में सुविधाएं तैयार करने को कहा था. इसमें गर्ल्स हॉस्टल, महिला शिक्षक, नर्स व डॉक्टरों की व्यवस्था करने जैसी सुविधाएं मुहैया कराने को कहा गया था.

ये भी पढ़ें:


Sarkari Jobs: 10वीं पास के लिये सरकारी नौकरी का मौका, पढ़ें
Teacher's Day 2019: जानिए आखिर 5 सितंबर को ही क्‍यों मनाते हैं टीचर्स डे
खुशखबरी: जनरल और OBC श्रेणी के छात्रों को भी मिलेगी स्कॉलरशिप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 10:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...