गोवा सरकार ने ITI में जर्मन वोकेशनल ट्रेनिंग के समझौते पर किए हस्ताक्षर

इंडो-जर्मन पहल छात्रों की रोजगार मिलने की क्षमता बढ़ाएगी.

गोवा के कौशल विकास मंत्री ने कहा, ‘‘ प्रशिक्षण की यह इंडो-जर्मन पहल छात्रों की रोजगार मिलने की क्षमता बढ़ाने में भूमिका निभाने जा रही है.’’

  • Share this:
    नई दिल्ली. गोवा सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने राज्य के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) में विश्व स्तरीय जर्मन दोहरी व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण (वोकेशनल ट्रेनिंग) के संचालन के लिए एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किया है.

    आईटीआई स्नातकों की बेहतर दक्षता
    गोवा के कौशल विकास मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा, ‘‘यह उद्योग में नवीनतम प्रौद्योगिकी विकास के साथ आईटीआई स्नातकों की बेहतर दक्षता को सुनिश्चित करेगा, जिसमें हरित कौशल भी शामिल है.

    रोजगार की क्षमता में वृद्धि
    जिससे इन आईटीआई से स्नातक करने वाले छात्रों की रोजगार मिलने की क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि होगी.’’ उन्होंने बताया कि कौशल विकास एवं उद्यमिता निदेशालय, सीमेंस लिमिटेड और जर्मन कंपनी गिज के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.

    व्यावहारिक अनुभव पा सकेंगे
    राणे ने कहा, ‘‘एमओयू छात्रों को इन-प्लांट प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करेगा ताकि वे अपने संबंधित ट्रेडों में व्यावहारिक अनुभव पा सकें.’’

    क्षमता में सुधार करने में मदद
    गोवा के कौशल विकास मंत्री ने कहा कि छात्रों को उद्योग में नवीनतम उन्नति से अवगत कराया जाएगा और इससे उन्हें अपनी रोजगार मिलने की क्षमता में सुधार करने में मदद मिलेगी.

    ये भी पढ़ें-
    प्रोफेशनल ग्रेजुएट्स को भी मिले सिविल सेवा परीक्षा में बैठने की एलिजिबिलिटी: दिल्ली सरकार
    ऑनलाइन सुविधा से वंचित छात्रों के लिए त्रिपुरा सरकार ने शुरू की 'नेबरहुड क्लास', जानिए क्या है

    इंडो-जर्मन पहल
    गोवा के कौशल विकास मंत्री ने कहा, ‘‘मैं बहुत खुश हूं कि प्रशिक्षण की यह इंडो-जर्मन पहल छात्रों की रोजगार मिलने की क्षमता बढ़ाने में भूमिका निभाने जा रही है.’’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.