इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए खुशखबरी, इंटर्नशिप का है ये बड़ा मौका

इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए खुशखबरी, इंटर्नशिप का है ये बड़ा मौका
इस योजना को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद चलाएगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

केंद्र सरकार (Central Government) ने अर्बन लर्निंग इंटर्नशिप प्रोग्राम (Urban Internship Learning Programme) के तहत इसके लिए काम शुरू कर दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंजीनियरिंग के छात्रों को अब परेशान होने की जरूरत नहीं हैं. उनके लिए एक खुशखबरी है. केंद्र सरकार की पहल से इन छात्रों को इंटर्नशिप का बड़ा मौका मिल सकता है. छात्रों के लिए ‘अर्बन लर्निंग इंटर्नशिप प्रोग्राम’ के साथ इसके लिए एक पोर्टल की शुरुआत की गई है. इसे देश के मानव संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) रमेश पोखरियल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) और आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी (Hardip Puri) ने लॉन्च किया. अब इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्रों को देश के 4500 निकायों और स्मार्ट सिटी में इंटर्नशिप का मौका मिल सकेगा. यह योजना अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (All India Council for Technical Education) चलाएगी.

अमर उजाला की खबर के अनुसार, केंद्रीय एचआरडी मिनिस्टर निशंक ने इस दौरान कहा कि इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री लेने वाले छात्रों को 45 सौ निकायों में प्रशिक्षण मिलेगा. इस साल यानी 2020 में लगभग पचीस हजार इजीनियरिंग के छात्र इंटर्नशिप कर सकेंगे. जबकि अगले दो से तीन साल के भीतर एक करोड़ छात्रों को प्रशिक्षण मिलेगा. माना जाता है कि इस समय पूरे देश में करीब 80 लाख छात्र इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं. इसके अलावा जो भी छात्रों को ट्रेनिंग मिलेगी उन सभी को प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा.

पोर्टल पर कराना होगा रजिस्ट्रेशन
इसके लिए आवेदकों को इस पोर्टल पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा. इसके साथ ही उन्हें यह भी जानकारी देनी होगी कि वह कहां इंटर्नशिप प्रोग्राम करने को इच्छुक है.



मंत्री ने की छात्रों के कार्य की प्रशंसा


मंत्री निशंक ने देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान देश के प्रतिष्ठित संस्थानों मसलन आईआईटी, आईआईएम और एनआईटी में छात्रों के द्वारा की गई पहल का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान इन छात्रों ने लैबोरेट्री में काफी काम किया. इस दौरान पीपीई कीट के अलावा मास्क, सेनिटाइजर मशीन और वेंटिलेटर भी बनाए गए. उन्होंने यह भी कहा कि उच्च शिक्षा के लिए छात्रों को विदेश जाने की अब जरूरत नहीं है. छात्रों की क्षमता पर चर्चा करते हुए निशंक ने कहा कि ये इंडिया हैकाथॉन सरीखे कार्यक्रमों में दिख जाती है.

इस साल 25,000 छात्रों को अवसर
इस दौरान केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि पहले साल यानी 2020 में पच्चीस हजार छात्र इंटर्नशिप हो पाएगा. इस दौरान इन्हें शहरी स्थानीय निकायों में काम काज के तरीके की जानकारी मिले सकेगी. गौरतलब है कि देश की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने साल 2020-21 के बजट में इस योजना की शुरुआत करने की घोषणा की थी.

 

ये भी पढ़ें:

सरकार अगर परमिशन दे तो भी बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं पैरेंट्स

लॉ यून‍िवर्स‍िटी के ये छात्र बने म‍िसाल, मजदूरों के ल‍िये क‍िया ये खास काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading