गुजरात: एक स्‍कूल की 200 नेत्रहीन लड़कियां राखी बनाकर खुद को कर रहीं सशक्‍त

एक छात्रा ने बताया कि हम देख नहीं सकते हैं लेकिन हमारी ये कोशिश रहती है कि हमारी बनाई हुई राखी सुंदर और आकर्षक दिखे.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 1:09 PM IST
गुजरात: एक स्‍कूल की 200 नेत्रहीन लड़कियां राखी बनाकर खुद को कर रहीं सशक्‍त
एक ही स्‍कूल की 200 नेत्रहीन लड़कियां राखी बनाकर बना रही हैं खुद को सशक्‍त
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 1:09 PM IST
रक्षाबंधन का त्‍योहार करीब है. जल्द ही बाजारों में रंग-बिरंगी राखी की रौनक देखने को मिलना शुरू हो जाएगी. इसी कड़ी में त्‍योहार के मौके पर गुजरात से एक सुकून देने वाली खबर सामने आ रही है. दरअसल यहां के एक ही स्‍कूल की 200 नेत्रहीन लड़कियां राखी बनाकर खुद को सशक्‍त कर रही हैं. यूं तो वे देख नहीं सकती लेकिन फिर भी पढ़ाई के साथ-साथ रंग-बिरंगी राखियां बनाकर खुद को आत्‍मनिर्भर बना रही हैं. इस स्‍कूल का नाम है अंध प्रकाश स्‍कूल है.

इन छात्राओं की जिंदगी में रंग नहीं है, लेकिन फिर भी वे रंग-बिरंगी राखियां तैयार कर रही हैं. इस बारे में एक छात्रा ने बताया कि हम देख नहीं सकते हैं लेकिन हमारी ये कोशिश रहती है कि हमारी बनाई हुई राखी सुंदर और आकर्षक दिखे. इसके लिए हम अपने मन में राखी का आकार और उसकी डिजाइन सुनिश्‍चित कर लेते हैं. उसके आधार पर ही हम राखी तैयार कर लेते हैं. वहीं इस बारे में स्‍कूल की कोआर्डिनेटर ने बताया कि हम पिछले 20 सालों से ये काम कर रहे हैं. हालांकि पिछले दो सालों पर सोशल मीडिया की वजह से हमारा काम चर्चा में आया. इसका हमें फायदा भी मिल रहा है. बाजार में लगातार हमारी बनाई हुई राखी की डिमांड बढ़ती जा रही है.

यह भी पढ़ें
First published: July 3, 2019, 1:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...