लाइव टीवी

PM Narendra Modi Birthday: हर दिन डायरी लिखकर उसके पन्ने जला दिया करते थे PM मोदी

News18Hindi
Updated: September 17, 2019, 11:10 AM IST
PM Narendra Modi Birthday: हर दिन डायरी लिखकर उसके पन्ने जला दिया करते थे PM मोदी
PM Narendra Modi Birthday: पीएम मोदी लगभग हर दिन कुछ पन्‍ने लिखते थे, लेकिन अजीब बात ये थी कि वो हर 6 से 8 महीने के बाद वो उस डायरी के लिखे पन्ने जला दिया करते थे.

PM Narendra Modi Birthday: पीएम मोदी लगभग हर दिन कुछ पन्‍ने लिखते थे, लेकिन अजीब बात ये थी कि वो हर 6 से 8 महीने के बाद वो उस डायरी के लिखे पन्ने जला दिया करते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2019, 11:10 AM IST
  • Share this:
PM Narendra Modi Birthday: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 69वें जन्मदिन पर उन्हें देश भर से बधाईयां मिल रही हैं. उनके बर्थडे के मौके पर शुभकामना देने की लिस्‍ट में राजनीति के तमाम दिग्‍गज हैं फिर चाहें वह पक्ष हो या विपक्षी दलों के नेता हो. हर कोई उन्‍हें मुबारकबाद दे रहा है. ऐसे में न्‍यूज 18 हिंदी भी प्रधानमंत्री के जन्‍मदिवस के मौके पर उनकी जिंदगी से जुड़ा दिलचस्‍प पहलू बताने जा रहे हैं और वो बात ये है कि PM मोदी युवावस्‍था में लगभग हर दिन डायरी लिखा करते थे लेकिन अजीब बात ये थी कि वे कुछ वक्‍त बाद अपने लिखे हुए पन्‍नों को जला दिया करते थे. वे क्‍यों करते थे ऐसा? इसके पीछे की वजह क्‍या थी. आइए जानते हैं..

दरअसल पीएम नरेंद्र मोदी को स्‍कूल के दिनों से ही एक्‍टिंग का शौक था. वे न केवल अभिनय करते थे बल्‍कि नाटक लिखा भी करते थे. धीरे-धीरे वक्‍त गुजरा और वे राजनीति की दुनिया में आगे बढ़ते चले गए. इसी दौरान उनके युवावस्‍था की बात है कि वे उन दिनों डायरी लिखा करते थे.

डायरी के पन्‍ने जला देते थे
पीएम मोदी लगभग हर दिन कुछ पन्‍ने लिखते थे, लेकिन अजीब बात ये थी कि वो हर 6 से 8 महीने के बाद वो उस डायरी के लिखे पन्ने जला दिया करते थे. ऐसा वो कई दिनों से कर रहे थे,  तभी एक दिन उन्‍हें ऐसा करते किसी ने देख लिया.

डायरी जलाते हुए दोस्‍त ने देख लिया
एक दिन मोदी के एक प्रचारक दोस्‍त नरेंद्र भाई पंचासरा ने डायरी जलाते हुए देख लिया. उन्होंने PM को समझाया और ऐसा करने से मना किया. नरेंद्र मोदी की उस डायरी के बचे पन्नों ने एक किताब का रूप ले लिया.

बचे पन्‍नों ने लिया किताब का रूप
Loading...

डायरी के बचे पन्‍नों से बनीं किताब का नाम है ‘साक्षीभाव’. ये किताब 36 साल के नरेंद्र मोदी के विचारों का संग्रह है. इसके बारे में नरेंद्र मोदी ने कहा है, 'जब मैं 36 साल का था तब जगद्जननी मां के साथ मेरे संवाद का संकलन है साक्षीभाव. यह किताब पाठक को मेरे साथ जोड़ती है. यह कितााा बबपाठक को न केवल समाचार पत्रों द्वारा, बल्कि मेरे शब्दों द्वारा मुझे जानने में मदद करती है. इस किताब में उस डायरी में लिखी बातें छपी हैं जिसमें मोदी दुर्गा मां के साथ अपने संवाद लिखते थे. मोदी ने उन्हें कविता का रूप दिया है.

कई किताबें लिख चुके हैं PM मोदी
साक्षीभाव के अलावा पीएम मोदी ने कई किताबें लिखीं हैं. इनमें एग्जाम वॉरियर्स, सोशल हार्मनी,ज्योतिपुंज शामिल है.

ये भी पढ़ें:  

Howdy Modi इवेंट में शामिल होंगे डोनाल्ड ट्रंप, पीएम मोदी ने जताई खुशी
PM मोदी के हिसाब से होगा केदारनाथ-बद्रीनाथ का विकास, सरकार ने तैयार किया ब्लू प्रिंट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 11:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...