बड़ी खबर : फाइनल सेमेस्टर के एग्जाम रद्द, इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर प्रमोट होंगे स्टूडेंट्स

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया गया फैसला.
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया गया फैसला.

देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर सरकार ने लिया अहम फैसला.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस के बीच हरियाणा (Haryana) में अब यूनिवर्सिटीज, टेक्निकल एजुकेशन इंस्टीट्यूट्स और कॉलेजों के फाइनल सेमेस्टर के एग्जाम (Final Semester Exam) नहीं होंगे. प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों को देखते हुए इन परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है. मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी दी. एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, अब स्टूडेंट्स को इंटरनल असेस्मेंट के नंबर और पिछले सेमेस्टर के नंबर के आधार पर प्रमोट किया जाएगा.

शिक्षा मंत्री ने कही ये बात
वहीं, टाइम्सनाउ की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा के शिक्षा मंत्री (Haryana Education Minister) कंवर पाल सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार ने सभी टर्मिनल या फाइनल सेमेस्टर एग्जाम आयोजित न कराने का फैसला किया है. साथ ही उच्च शिक्षा व तकनीकी एजुकेशन कोर्स के लिए आयोजित होने वाली इंटरमीडिएट सेमेस्टर की परीक्षाएं भी अब नहीं कराई जाएंगी.

ये भी पढ़ें
टॉपर्स के नाम तक नहीं पढ़ सके शिक्षा मंत्री,प्रज्ञा को प्रयाग,तनु को कहा तांदू


SBI में निकली है बंपर वैकेंसी, जानें योग्यता और सेलेक्शन प्रोसेस

इस आधार पर किया जाएगा प्रमोट
परीक्षाएं रद्द होने की सूरत में स्टूडेंट्स को इंटरनल असेस्मेंट के 50 प्रतिशत नंबर और पिछले सेमेस्टर के 50 प्रतिशत नंबर के औसत के आधार पर प्रमोट किया जाएगा. हालांकि स्टूडेंट्स के पास नंबरों में सुधार करने का मौका रहेगा. वो इसलिए क्योंकि स्टूडेंट्स चाहें तो बाद में स्थिति सामान्य होने पर परीक्षा दे सकते हैं. शिक्षा मंत्री ने साथ ही कहा कि अगर कोई यूनिवर्सिटी चाहती है तो वो ऑनलाइन एग्जाम ले सकती है. लेकिन ये तभी मुमकिन होगा जब यूनिवर्सिटी के पास इसके लिए पूरी तैयार हो और सभी स्टूडेंट्स का इसमें भाग लेना सुनिश्चित हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज