लाइव टीवी

हरियाणा सरकार ने पहली से 8वीं कक्षा तक के बच्चों को बिना परीक्षा के पास करने समेत लिए ये बड़े फैसले

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 12:27 PM IST
हरियाणा सरकार ने पहली से 8वीं कक्षा तक के बच्चों को बिना परीक्षा के पास करने समेत लिए ये बड़े फैसले
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

नौवीं के छात्रों की परीक्षा हो चुकी है, इनका रिजल्ट अगले सप्ताह तक आने की संभावना है. दसवीं की विज्ञान की परीक्षा अभी नहीं हुई है, लेकिन इसके बिना ही दसवीं का रिजल्ट घोषित किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2020, 12:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा सरकार ने कोरोना से जंग के बीच पहली से आठवीं तक के बच्चों के हित में बड़ा फैसला किया है. सरकार ने निर्णय लिया है कि पहली स आठवीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के पास किया जाएगा. इस बात की घोषणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने की है. उन्होंने कहा कि पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा. नौवीं के छात्रों की परीक्षा हो चुकी है, इनका रिजल्ट अगले सप्ताह तक तैयार हो जाएगा.

वहीं सूबें में दसवीं कक्षा की विज्ञान विषय की परीक्षा नहीं हुई है, जिसके बिना ही दसवीं का रिजल्ट घोषित किया जाएगा. इन्हीं विषयों के प्रतिशत के आधार पर 11वीं में छात्र एडमिशन ले सकेंगे. 11वीं की गणित की परीक्षा बाकी है, अन्य विषय का रिजल्ट घोषित किया जाएगा. उसके आधार पर 12वीं में दाखिला दे देंगे.विज्ञान व गणित की परीक्षा उचित समय पर लेकर दोनों विषयों का रिजल्ट विद्यार्थियों के कुल अंक में जोड़ दिया जाएगा. हालांकि 12वीं कक्षा को लेकर सरकार ने अभी कोई फैसला नहीं लिया है.

2. कोरोना रिलीफ फंड अधिसूचित, 7 सदस्यीय कमेटी गठित
मनोहर लाल सरकार ने कोरोना रिलीफ फंड को अधिसूचित करते हुए रख रखाव के लिए राज्य में 7 सदस्यीय कमेटी गठित की है. इस पर राज्यपाल की मंजूरी के बाद वित्त विभाग ने अधिसूचना जारी की है. सीएम खुद इस कमेटी के चेयरमैन हैं, जबकि 6 सदस्यों में वित्त मंत्री, मुख्य सचिव, वित्त विभाग के एसीएस, राजस्व विभाग के एसीएस, सीएम के प्रधान सचिव व वित्त विभाग के विशेष सचिव बतौर सदस्य सचिव के रूप में शामिल हैं.



3. 7 लाख अनुबंध कर्मचारियों को मार्च का पूरा वेतन मिलेगा


हरियाणा सरकार के श्रम विभाग की विशेष टीमें श्रमिकों के हित में काम कर रही हैं. लगभग सवा लाख औद्योगिक इकाइयों में 27 लाख के करीब श्रमिक काम कर रहे हैं, जिनमें से लगभग 7 लाख अनुबंध पर हैं. राज्य सरकार के निर्देश पर इनमें से लगभग ढाई लाख श्रमिकों को मार्च का वेतन उनके खाते में दिया जा चुका है और बाकी को भी 7 अप्रैल तक वेतन दे दिया जाएगा.

राज्य के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि राज्य के उद्यमियों ने अब तक सरकार का पूरा सहयोग दिया है. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा संचालित राहत शिविरों में लगभग 16 हजार श्रमिक रह रहे हैं और वहां उनके भोजन आदि की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा, राज्य सरकार के निर्देशानुसार कारखानों में रात्रि ठहराव की व्यवस्था भी की गई है जिनमें लगभग 22 हजार श्रमिक रह रहे हैं.

4. श्वास रोगियों की होगी विशेष देखभाल
हरियाणा में कोरोना को मात देने के लिए जमीनी स्तर पर लड़ाई लड़ी जारी है. मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने जिला उपायुक्तों को अपने-अपने जिले में कोविड-19 के प्रकोप को रोकने के लिए माइक्रो योजनाएं तैयार कर क्रियान्वित करने के निर्देश दिए हैं. इसका उद्देश्य हर स्तर पर इस बीमारी के फैलने से रोकना है. इसके अलावा श्वास संबंधी रोगियों की विशेष देखभाल की जाएगी. उन्हें अगर दिक्कत है तो अस्पताल में भर्ती करवाकर उपचार सुनिश्चित कराना होगा.

ये भी पढ़ें- 14 अप्रैल के बाद फिर से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज : मानव संसाधन विकास मंत्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतक से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 12:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading