अपना शहर चुनें

States

Himachal Pradesh police training center: पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय डरोह देशभर में प्रथम, ईनाम में मिलेंगे 22 लाख

2015-16 में भी इस संस्थान को आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण के लिए देशभर में अव्वल घोषित किया गया था.
2015-16 में भी इस संस्थान को आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण के लिए देशभर में अव्वल घोषित किया गया था.

संस्थान वर्ष 25 जुलाई, 1995 को स्थापित हुआ था. इस वर्ष रजत जयंती मना रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 12:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय डरोह को प्रशिक्षण के क्षेत्र में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ. ऐसा करके हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय ने हिमाचल प्रदेश को गौरवान्वित किया. पहाड़ी राज्य हिमाचल के संस्थान ने देश भर में सबसे बड़ी उपलब्धि हासिल की. इस संस्थान को गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा ईनाम में ट्रॉफी और 22 लाख रुपए की राशि दी जाएगी.

पहले भी रह चुका है अव्वल
गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा देशभर के प्रशिक्षण संस्थानों के प्रशिक्षण स्तर का मूल्यांकन परिणाम घोषित किया गया. जिसमें इस विद्यालय को वर्ष 2018-19 के लिए आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए देशभर में प्रथम घोषित किया गया है, जबकि वर्ष 2017-18 के लिए अराजपत्रित अधिकारी ग्रेड-एक को प्रशिक्षण देने के लिए उत्तरी क्षेत्र में प्रथम घोषित किया गया है. इससे पूर्व भी 2015-16 में भी इस संस्थान को आरक्षी मूलभूत प्रशिक्षण के लिए देशभर में अव्वल घोषित किया गया था.

पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय हुए प्रसन्न
हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय, डरोह के प्रधानाचार्य डॉ. अतुल फुलझेले (भापुसे) ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि सफलता का श्रेय प्रदेश पुलिस महानिदेशक तथा प्रशिक्षण केंद्र में कार्यरत सभी अधिकारियों, प्रशिक्षकों और सहायक प्रशिक्षकों को जाता है. जिन्होंने अपनी रूचि, समर्पण व कठिन परिश्रम से इस प्रशिक्षण संस्थान को राष्ट्रीय स्तर पर नई पहचान स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है. उन्होंने बताया कि सूचना मिलने के उपरांत पूरे हिमाचल प्रदेश पुलिस परिवार में खुशी का माहौल है.



सहयोग के लिए शुक्रगुजार
उन्होंने बताया कि यह संस्थान 25 जुलाई, 1995 को स्थापित हुआ था. इस वर्ष रजत जयंती मना रहा है तथा आने वाले समय में भी नए-नए आयाम स्थापित करके राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहेगा. डॉ. फुलझेले ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और प्रदेश पुलिस महानिदेशक संजय कुंडु का धन्यवाद करते हुए बताया कि उनके निरन्तर सहयोग व मूलभूत ढांचे को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए धन का प्रावधान इस आयाम को छूने में सार्थक सिद्ध हुआ है.

यह भी पढ़ें-
Sarkari Naukri: ग्रामीण डाक सेवक के 4269 पदों पर अप्लाई करने का आज आखिरी मौकाजल्द करें आवेदन
UPSC प्रारंभिक परीक्षा के लिए नहीं दिया जाएगा अतिरिक्त मौका,सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार का जवाब

उन्होंने बताया कि इस सफलता को हांसिल करने के लिए इस संस्थान को गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इनाम के रूप में ट्रॉफी और 22 लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज