होम /न्यूज /करियर /

Black cat commando: ब्लैक कमांडो कैसे बनें, 2.5 लाख तक मिलती है सैलरी

Black cat commando: ब्लैक कमांडो कैसे बनें, 2.5 लाख तक मिलती है सैलरी

black cat commando: सात केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल में से ही एक होते हैं नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG).

black cat commando: सात केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल में से ही एक होते हैं नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG).

भारत के कई मशहूर लोगों को सिक्योरिटी दी जाती है. जिसमे ब्लैक कैट कमांडो भी शामिल होते हैं. ये कमांडो भारत के सबसे खतरनाक कमांडो के रूप में भी जाने जाते हैं.

    हाइलाइट्स

    ये सिक्योरिटी देश के प्रधानमंत्री, प्रमुख केंद्रीय मंत्री, मुख्‍यमंत्री जैसे VVIP लोगों को प्रदान की जाती है.
    26/11 के आंतकी हमले में भी सबसे आखिर में इन्हीं जवानों ने मोर्चा संभाला था.

    Black commando: भारत सरकार कई मशहूर नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करती है. ऐसी कई कंपनियां भी मौजूद हैं जो वीआईपी और वीवीआईपी लोगों को सुरक्षा देने के लिए कमांडो तैनात करते हैं. जो उनकी सुरक्षा के लिए काम करते हैं. काले कपड़ों में तैनात कमांडो वीवीआईपी लोगों के आस पास उनकी सुरक्षा के लिए होते हैं वो भारत के सबसे खतरनाक ‘ब्लैक कैट कमांडो’ के नाम से जाने जाते हैं.

    ये सिक्योरिटी देश के प्रधानमंत्री, प्रमुख केंद्रीय मंत्री, मुख्‍यमंत्री से लेकर कई वीवीआईपी लोगों को प्रदान की जाती है. इसके अलावा देश की सुरक्षा के लिए सभी आतंकी हमले और मुश्किल परिस्थितियों में भी ब्लैक कैट कमांडो ही ऑपरेशन को संभालते हैं. बता दें, 26/11 के आंतकी हमले में भी सबसे आखिर में इन्हीं जवानों ने मोर्चा संभाला था.

    कौन होते हैं ब्लैक कैट कमांडो
    सात केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल में से ही एक होते हैं नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG). इन्हे ब्लैक कैट कमांडो के नाम से भी जाना जाता है. एनएसजी फाॅर्स का गठन साल 1984 में देश के वरिष्ट लोगों की सुरक्षा के लिए हुआ था. एनएसजी कमांडो के लिए कोई सीधी भर्ती नहीं होती है. इसकी ट्रेनिंग के लिए भारतीय सेना और अर्धसैनिक बलों के ख़ास जवानों को चुना जाता है. एनएसजी फाॅर्स में चुने जाने वाले कमांडो में 53% भारतीय सेना से और बाकी 45% कमांडो सीआरपीएफ, आरएएस, आइटीबीपी,और बीएसएफ से चुने जाते हैं. कमांडो की ट्रेनिंग में भाग लेने के लिए कम से कम 10 साल सेना में बिताने होंगे.

    ऐसी होती है ब्लैक कैट कमांडो की ट्रेनिंग

    एनएसजी में चुनाव के लिए एक कमांडो को कई चरण पार करने होते हैं. जिसमे उम्‍मीदवारों को सबसे पहले एक हफ्ते की काफी कठोर ट्रेनिंग दी जाती है. जिसमे करीब 80% सैनिक या तो फेल हो जाते हैं या ट्रेनिंग छोड़ देते हैं. आखिर में सिर्फ 20% सैनिक ही इस दौड़ में पहुंचने में सफल होते हैं. इसके बाद इन चुने गए जवानों को 90 दिन की कड़ी ट्रेनिंग दी जाती है. जिसमे सैनिकों को हथियारों के साथ लड़ाई करने के अलावा बिना हथियारों के दुश्मनों पर सही तरह हमला करना और हमले से बचने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है. 3 महीने की कठिन ट्रेनिंग को पास करने वाले सैनिक ही देश के सबसे खतरनाक और ताकतवर कमांडो टीम में शामिल होने के योग्य बनते हैं.

    ब्लैक कैट कमांडो की सैलरी
    एनएसजी कमांडो की नौकरी जितनी कठिन है. उतनी ही शानदार इसमें सैलरी भी है. इसमें हर महीने लगभग 84,000 से लेकर 2.5 लाख रुपए तक की सैलरी मिलती है. इसमें सैलरी फील्‍ड नियुक्ति पर निर्भर करती है. एनएसजी में ऑपरेशन ड्यूटी पर आने वाले अफसरों को लगभग 27,800 रुपए सालाना और नॉन ऑपरेशनल ड्यूटी करने वाले जवानों को 21,225 रुपए का ड्रेस भत्ता भी दिया जाता है. इसके अलावा इन्हें कई तरह की सुविधाएं भी प्राप्त होती हैं.

    ये भी पढ़ें-
    ITBP Constable recruitment 2022: कांस्टेबल के पदों पर आवेदन शुरू, 10वीं पास करें अप्लाई
    JSSC Sarkari Naukri 2022: 10वीं हैं पास, तो उद्योग विभाग में इन पदों पर मिलेगी नौकरी, इस दिन से आवेदन शुरू, 63000 होगी सैलरी

    Tags: Career, Job and career, Join Indian Army, NSG

    अगली ख़बर