कैसे बनते हैं IAS ऑफिसर, क्या होता है इसके लिए एग्जाम पैटर्न

कैसे बनते हैं IAS ऑफिसर, क्या होता है इसके लिए एग्जाम पैटर्न
इस साल, कोरोना वायरस का असर यूपीएससी परीक्षाओं पर भी पड़ा है.

मेन एग्जाम में सेलेक्टेड कैंडीडेट्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. यहां व्यक्तित्व परीक्षण किया जाता है. पर्सनेलिटी टेस्ट (इंटरव्यू) 275 नंबरों का होता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस यानी IAS ऑफिसर पोस्ट पाने लिए जो एग्जाम क्लीयर करना होता है, उसे संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission, UPSC) द्वारा कराया जाता है. इस एग्जाम की तीन स्टेज होती हैं. परीक्षा के तीनों स्टेज के पेपरों में करंट अफेयर्स से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं.

सबसे पहले होता है Civil Services (Preliminary) Exam यानी प्रारंभिक परीक्षा.

1) प्रारंभिक परीक्षा- IAS ऑफिसर बनने के लिए UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) का जो एग्जाम क्लियर करना पड़ता है, Preliminary एग्जाम उसकी पहली स्टेज है.



2) Main एग्जाम- संघ लोक सेवा आयोग के एग्जाम की दूसरी स्टेज Main एग्जाम  है.
मुख्य परीक्षा में इन अभ्यर्थियों को मिलता है मौका
Preliminary एग्जाम के स्कोर के आधार पर Main एग्जाम के लिए क्वालीफाई माना जाता है. Main एग्जाम और PT टेस्ट के आधार पर रैंक तय की जाती है.

3)Personality Test (इंटरव्यू)- संघ लोक सेवा आयोग के एग्जाम की तीसरी स्टेज Personality Test (इंटरव्यू) है.

समझिए इन तीनों एग्जाम पैटर्न की डिटेल

Preliminary एग्जाम- प्रारंभिक परीक्षा के पैटर्न में 2010 के बाद बदलाव हुआ. अब इसे सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट (CSAT) कहा जाता है. (आधिकारिक तौर पर इसे अभी भी जनरल स्टेज पेपर -1 और पेपर -2 कहा जाता है.) नए पैटर्न में दो घंटे की अवधि में दो पेपर होते हैं. हर एक 200 अंक का होता है.

मेन एग्जाम- में नौ पेपर होते हैं. जिसमें दो क्वालिफाई करने होते हैं और सात रैंकिंग वाले होते हैं. इन पेपर्स में सवाल एक से 60 नंबर्स तक हो सकते हैं. जिनके जवाब 20 शब्दों से 600 के बीच दिया जा सकता है. क्वालिफाईंग पेपर्स पास करने वाले उम्मीदवारों को अंकों के अनुसार रैंक दी जाती है.

मेन एग्जाम के 9 पेपर्स-
Paper A- 300 नंबरों का पेपर होता है. ये पेपर कैंडीडेट द्वारा चुनी किसी भी भारतीय भाषा या इंग्लिश में हो सकता है.
Paper B- ये भी 300 नंबरों का पेपर होता है, क्वालीफाईंड एग्जाम होता है.
Paper I- 250 नंबरों का पेपर होता है. जिसमें Essay लिखना होता है.
Paper II- 250 मार्कस का पेपर होता है, इसमें सामान्य अध्ययन I (भारतीय विरासत और संस्कृति, इतिहास और विश्व और समाज का भूगोल).
Paper III- सामान्य अध्ययन II (शासन, संविधान, राजव्यवस्था, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध) ये पेपर भी 250 मार्कस का होता है.
Paper IV- सामान्य अध्ययन III (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन) ये पेपर भी 250 मार्कस का होता है.
Paper V- सामान्य अध्ययन IV (नैतिकता, अखंडता और योग्यता)
Papers VI, VII- 500 नंबरों का पेपर. वैकल्पिक विषयों की सूची से उम्मीदवार द्वारा चुने जाने वाले विषयों पर दो पेपर (प्रत्येक पेपर के लिए 250 अंक)

ये भी पढ़ें-
Karnataka CET में 1.94 लाख छात्र शामिल, 40 से अधिक कोरान पॉजिटिव
मिडिल स्कूल की बोर्ड परीक्षाएं फिर से कराने की तैयारी में मिजोरम सरकार

मेन एग्जाम में सेलेक्टेड कैंडीडेट्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. यहां व्यक्तित्व परीक्षण किया जाता है. पर्सनेलिटी टेस्ट (इंटरव्यू) 275 नंबरों का होता है.

पेपरों के नंबर
-1750 नंबरों की सभी लिखित परीक्षाएं.
-पर्सनेलिटी टेस्ट (इंटरव्यू) 275 नंबरों का होता है.
-कुल नंबर : 2025
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading