Career & Jobs: 12वीं के बाद कैसे करें करियर का चुनाव, इन बातों का रखें ध्यान

jobs & Career: 12वीं के बाद करियर के चुनाव में कई बातों का ध्यान रखना पडता है

jobs & Career: 12वीं के बाद करियर के चुनाव में कई बातों का ध्यान रखना पडता है

Career & Jobs: 12वीं के बाद कॅरियर का चुनाव करना काफी मुश्किल होता है. ऐसे में हमें कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है.

  • Share this:

स्कूलिंग (Schooling) खत्म करने के बाद आमतौर पर सभी छात्रों को सही कैरियर (Career) विकल्पों की तलाश रहती है ताकि वे भविष्य (Future) में सफल (Success) हो सकें. कई लोगों को ये विकल्प अपने आप मिल जाते हैं, तो कई छात्रों को सही कैरियर चुनने के लिए अपने अंदर के टैलेंट (Talent) को तलाशना और तराशना पड़ता है.

एक व्यक्ति जितना अधिक अपने टैलेंट को निखरता है, वह अपने कैरियर को उतनी ही ऊंचाइयों पर ले जाता है. लेकिन ऐसे कितने लोग हैं जो एक राह पकड़कर कैरियर की सही दिशा में चलते हैं. कुछ लोग अपनी हॉबी (Hobby) और पैशन (Passion) के नाम पर किसी कैरियर की जोरदार शुरुआत तो करते हैं, लेकिन फिर मुश्किलों और परेशानियों के नाम पर राह से भटकते चले जाते हैं.

आपा-धापी भरी जिंदगी में उन्हें पता ही नहीं चलता कि वे क्या कर रहे हैं. फिर वो भी भेड़चाल (Crowd) का हिस्सा बनकर ताउम्र सिर्फ मशीन की तरह काम करते रहते हैं. इसका नतीजा यह होता है कि कुछ ही समय में ज्यादातर लोग या तो अपनी जॉब से ऊब जाते हैं या उससे नफरत करने लगते हैं. इन सबसे बचने का सबसे सही तरीका है सही कैरियर का चुनाव. चलिए आज जानते हैं कि सही कैरियर कैसे चुना जाए: सही कैरियर चुनने के मुख्य तौर पर तीन स्टेप हैं:

1. खुद का मूल्यांकन: कोई भी कैरियर चुनने से पहले खुद का मूल्यांकन करना बहुत जरूरी है. इसके तहत सबसे पहले आपको अपनी पर्सनालिटी (Personality) को जानना होगा कि आप का व्यक्तित्व कैसा है. आप सबके बीच खुलकर रहना पसंद करते हैं या खुद में रहना. फिर आपको अपने इंटरेस्ट पर ध्यान देना होगा कि आपको किन कामों को करने से खुशी मिलती है. इसके बाद अपने पसंदीदा विषयों और स्किल्स (Skills) को पहचानना होगा कि आप किन विषयों पर ज्यादा बेहतर ढंग से काम करते हैं. इन सब के बाद आपको अपनी एजुकेशन (Education) को इन सभी से मिलाकर देखना होगा कि आपका खुद को लेकर मूल्यांकन कितना सही है.
2. अब पॉसिबल कैरियर की लिस्ट बनाएं: पहले स्टेप को पूरा करने के बाद आप अपनी काबिलियत (Capabilities) को लेकर काफी हद तक क्लियर हो जाएंगे कि आप कैरियर के लिहाज से क्या-क्या करने में सक्षम हैं. अब दूसरे स्टेप के तहत आप को बारी-बारी से कैरियर के सभी विकल्पों की जानकारी लेनी है कि किस क्षेत्र में क्या संभावनाएं होती हैं. इसके बाद आपको अपने लिए उपयुक्त लगने वाले कैरियर विकल्पों को शॉर्टलिस्ट करना है. 3-4 कैरियर शॉर्टलिस्ट करने के बाद आपको किसी विशेषज्ञ (Expert) से सलाह लेनी है कि आपकी क्षमताओं के अनुसार इनमें से कौन सा कैरियर आपके लिए सबसे सही रहेगा.

3. अब सोच-समझकर कैरियर चुनें: पहले दो स्टेप पूरे करने के बाद आपके सामने आपके कैरियर के चयन की 80 प्रतिशत उलझनें (Confuदूर हो जाएंगी. अब आप खुद को भी जान चुके होंगे और विभिन्न कैरियर विकल्पों के बारे में भी. अब आपको भविष्य को ध्यान में रखते हुए एक प्लान बनाना है कि आप इस कैरियर में किस तरह आगे बढ़ेंगे और सफलता कैसे पाएंगे. इन तीनों स्टेप को सही तरह पूरा करने के बाद अपने लिए कैरियर के सबसे सही विकल्प को आसानी से चुन सकते हैं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज