Home /News /career /

छात्रों के लिए आज अहम दिन, सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से मीटिंग कर निशंक करेंगे बड़ा ऐलान!

छात्रों के लिए आज अहम दिन, सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से मीटिंग कर निशंक करेंगे बड़ा ऐलान!

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pkhriyal Nishank) कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात के बाद शिक्षा कार्यक्रम को पटरी पर लाने के संबंध में सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से बात करेंगे.

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pkhriyal Nishank) कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात के बाद शिक्षा कार्यक्रम को पटरी पर लाने के संबंध में सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से बात करेंगे.

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pkhriyal Nishank) कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात के बाद शिक्षा कार्यक्रम को पटरी पर लाने के संबंध में सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से बात करेंगे.

    नई दिल्ली. पूरी दुनिया में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) का असर भारत में अन्य क्षेत्रों के साथ शिक्षा विभाग पर भी पड़ा है. पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है. ऐसे में छात्र अपने.अपने घरों से पढ़ाई कर रहे हैं. उनके लिए ऑनलाइन कोर्स की भी व्यवस्था की गई है. इसके अलावा सरकार द्वारा जारी किए गए प्लेटफॉर्म दीक्षा, ई-पाठशाला इत्यादि से भी बच्चों के लिए पढ़ाई की व्यवस्था उपलब्ध कराई जा रही है. स्वयंप्रभा टीवी चैनलों से भी छात्रों को पढ़ाया जा रहा है.

    पढ़ाई को लेकर आगे का रास्ता निकालने की होगी कोशिश
    हालांकि इन तमाम प्रयासों के बावजूद तमाम राज्य बोर्डों और सीबीएसई बोर्ड की भी परीक्षाएं रुकी हुई हैं. ऐसे में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने देश के सभी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों से मंगलवार को इस संबंध में मीटिंग करेंगे. ताकि आगे का कोई रास्ता निकाला जा सके. सोशल मीडिया पर पूरे देश के छात्रों को संबोधित करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने इस बात की जानकारी दी. यह बैठक मंगलवार को दोपहर दो बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होगी.

    वीडियो कॉल के जरिये शिक्षा मंत्रियों से बात करेंगे निशंक
    मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘एचआरडी मंत्री कोविड-19 से निपटने, मध्याह्न भोजन कार्यक्रम, समग्र शिक्षा कार्यक्रम जैसे मुद्दों पर वीडियो कॉल के माध्यम से राज्य के शिक्षामंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे.’ इससे पहले सोमवार को पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने छात्रों और अभिभावकों से ऑनलाइन बातचीत की और लॉकडाउन के चलते पुस्तकों की अनुपलब्धता और बोर्ड परीक्षा की अनिश्चितता समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की.

    तीन मई तक देश में लॉकडाउन
    देशभर में विश्वविद्यालय एवं विद्यालय 16 मार्च से बंद हैं. केंद्र ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में कक्षाओं को बंद करने की घोषणा की थी. बाद में, 24 मार्च को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन घोषित किया गया, जिसे तीन मई तक बढ़ा दिया गया. मार्च के आखिरी सप्ताह में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों से विद्यालयों के बंद रहने के बावजूद विद्यार्थियों को मध्याह्न भोजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा था.

    नुकसान की भरपाई करने की कोशिश
    पंजाब और कर्नाटक कोविड-19 के चलते पहले ही ग्रीष्मावकाश की घोषणा कर चुके हैं जबकि अन्य राज्य अकादमिक कैलेंडर पर काम कर रहे हैं तथा अकादमिक नुकसान को कम से कम करने के लिए गर्मियों की छुट्टी पहले करने समेत विभिन्न कदमों पर विचार कर रहे हैं. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने पिछले सप्ताह राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर उनसे स्कूल फीस भुगतान एवं शिक्षकों को तनख्वाह के भुगतान पर संवेदनशीलता से विचार करने का आग्रह किया है.

    CBSE अध्यक्ष अनीता करवाल MHRD के स्कूल शिक्षा विभाग में सचिव के पद पर नियुक्त

    Tags: Career Guidance, HRD ministry, Job and career, Ramesh Pokhriyal Nishank

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर