Home /News /career /

IAS Success Story: इस आईएएस से जानें UPSC में एक गलती कैसे पड़ती है भारी

IAS Success Story: इस आईएएस से जानें UPSC में एक गलती कैसे पड़ती है भारी

हर IAS की कामयाबी की अपनी एक मिसाल कायम करती है.

हर IAS की कामयाबी की अपनी एक मिसाल कायम करती है.

अनुज ने पहली बार 2016 में एग्जाम दिया था, पहली ही बार में इंटरव्यू तक पहुंचे लेकिन फाइनल रिजल्ट में नाम नहीं आया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    नईदिल्ली. IAS Struggle And Success Story: आज की सक्सेस स्टोरी में मिलिए अनुज प्रताप सिंह से. अनुज को 2019 में सिविल सर्विस परीक्षा में तीसरे अटेम्प्ट में सफलता मिली, तब इन्होंने 441वीं रैंक पाई. इनकी कहानी यूपीएससी एग्जाम की तैयारी में किए संघर्ष को बयां नहीं करती. बल्कि इनकी कहानी में आप रूबरू होंगे, संघर्ष के उस पहलू से जिसमें एक गलती करियर की दिशा बदल देती है. लेकिन अनुज की हिम्मत बताती है मेहनत तब तक करो जब तक मंजिल हासिल ना हो जाए. समय कभी भी स्थिर नहीं रहता, मौके और मुसीबतें कभी भी आ सकते हैं.

    पहले प्रयास में इंटरव्यू तक पहुंचे
    2019 में सिविल सर्विस परीक्षा में सफलता पाने वाले अनुज के सफर की अपनी मुश्किले रहीं. अनुज ने पहली बार 2016 में एग्जाम दिया था, पहली ही बार में इंटरव्यू तक पहुंचे लेकिन फाइनल रिजल्ट में नाम नहीं आया.

    दूसरी बार 2017 में परीक्षा दी लेकिन इंटरव्यू के दस दिन पहले एप्लीकेशन फॉर्म रद्द कर दिया गया. दूसरे अटेम्प्ट में उन्होंने एप्लीकेशन फॉर्म में डेट ऑफ बर्थ गलत भर दी थी. इस बार अनुज ने पहल से भी ज्यादा जी-जान से मेहनत की थी. लेकिन हर मुश्किल से निकलने का अपना संघर्ष होता है. अनुज ने इससे निकलने के लिए भी तनाव और मुसीबतों के बीच कोर्ट में अपील की. कोर्ट में केस खारिज हुआ. वे हाई कोर्ट गए. लंबी लड़ाई के बाद फैसला उनके पक्ष में आया. उन्हें लगा कि अब यूपीएससी में सफलता जरूर मिलेगी, लेकिन समय काफी बीच चुका था.

    101 डिग्री बुखार में दी परीक्षा
    उन्होंने एक बार और 2018 में फिर से परीक्षा दी. जिसमें सफलता तो मिल गई, पर इन इस परीक्षा के दौरान उन्हें 101 डिग्री बुखार था. तबीयत ठीक न होने के चलते परिवार वालों ने एग्जाम देने से रोका भी, पर अनुज ने तय कर लिया था वे परीक्षा को क्रैक करके ही दम लेंगे. 2019 में आखिरकार उन्हें सफलता मिली और वे IAS बने.

    ये भी पढ़ें-
    Success Story: सिर से उठा मां-बाप का साया, बेटी हिम्मत कर फिर भी बनी IAS
    UPSSSC Recruitment 2019: ASO & ARSO पोस्ट्स के लिए 904 वैकेंसी, करें अप्लाई
    भारतीय डाक विभाग इन राज्यों में करेगा 10,000 कैंडीडेट्स की भर्ती

    Tags: IAS exam, Success Story, UPSC, UPSC Exams

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर