लाइव टीवी

2 जून को है UPSC IAS Prelims 2019 Exam, पढ़ें एग्जाम क्रैक करने की लास्ट मिनट टिप्स

News18Hindi
Updated: June 1, 2019, 7:58 AM IST
2 जून को है UPSC IAS Prelims 2019 Exam, पढ़ें एग्जाम क्रैक करने की लास्ट मिनट टिप्स
IAS Prelims 2019 Exam

IAS Prelims 2019 Exam: सबसे पहले सभी सवालों को पढ़ें और पहले मुश्किल सवालों को करें. आधे सवाल पढ़कर हल करने की गलती न करें. पूरा सवाल ध्यान से पढ़ें.

  • Share this:
IAS Prelims 2019 Exam: यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन, सिविल सर्विस की प्रारंभिक परीक्षा 2019 2 जून को लेने जा रहा है. इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए देश के लाखों युवा अपनी ज़िंदगी के कई साल तैयारी में बिताते हैं. सिविल सर्विस एग्जाम पास करने का सक्सेस रेट 0.2% है. 1000 में 2 लोग इस एग्जाम को क्लियर कर पाते हैं. यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन Preliminary Exam यानी प्रारंभिक परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड पहले ही UPSC की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी कर चुका है. कल 2 जून 2019 को देशभर में यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की जा रही है.

प्रारंभिक परीक्षा सिर्फ स्क्रीनिंग टेस्ट के रूप में ली जाती है. जो कैंडीडेट्स Main एग्जाम देने के लिए योग्य होते हैं, उसमें प्रारंभिक परीक्षा के नंबर नहीं जोड़े जाते. न ही इन नंबरों को उम्मीदवारों की योग्यता की आखिरी मेरिट लिस्ट को निर्धारित करने के लिए नहीं गिना जाता है. पढ़िए एग्जाम क्रैक करने के लिए जरूरी लास्ट मिनट टिप्स.

IAS Prelims 2019 Exam Pattern को समझने की बात करें तो इसमें 2-2 घंटे के दो पेपर होंगे. GS Paper-I में 2-2 नंबरों के 100 सवाल होंगे. GS Paper-II (CSAT) में 80 सवाल, 2.5 मार्क्स के मुताबिक होंगे. दोनों पेपरों में कुल 180 सवाल, 400 नंबरों के होंगे.

खास टॉपिक्स और नोट्स को रिवाइस करें- GS Paper-I के लिए

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं, भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन; भारतीय और विश्व भूगोल: भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल; भारतीय राजनीति और शासन: संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकार मुद्दे, आदि; आर्थिक और सामाजिक विकास: सतत विकास, गरीबी, समावेश, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल, आदि; पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे; और सामान्य विज्ञान पढ़ें.

GS Paper-II के लिए
समझ; संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल; तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता; निर्णय लेना और समस्या समाधान; सामान्य मानसिक क्षमता; बुनियादी संख्या (संख्या और उनके संबंध, परिमाण के आदेश, आदि) (कक्षा X स्तर), डेटा व्याख्या (चार्ट, रेखांकन, तालिकाओं, डेटा पर्याप्तता आदि) - कक्षा X स्तर) इत्यादी को दोहराएं.-कुछ लोग केवल अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करते हैं प्रैक्टिस पर नहीं. संपूर्ण सिलेबस को पूरी तरह से रिवाइज करके जानकारी को याद रखना भी महत्वपूर्ण है. उम्मीदवारों को परीक्षा पैटर्न के अनुसार प्रश्नों का अभ्यास करना चाहिए; केवल वर्णनात्मक या वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का अभ्यास करना बहुत बड़ी गलती है.

-कुछ UPSC उम्मीदवारों को CSE में अध्ययन करने के लिए स्पष्टता की कमी की वजह से योग्यता प्राप्त नहीं होती. इसलिए हर टॉपिक को क्लियर रखें.

-उम्मीदवारों के पास संपूर्ण सिलेबस को कवर करने के लिए अध्ययन योजना होनी चाहिए. एक उचित रणनीति और व्यवस्थित दृष्टिकोण के बिना, उम्मीदवार परीक्षा को क्रैक करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं. समय का खराब मैनेजमेंट CSE में असफलता के लिए एक और वजह है.

-सबसे पहले सभी सवालों को पढ़ें और पहले मुश्किल सवालों को करें. आधे सवाल पढ़कर हल करने की गलती न करें. पूरा सवाल ध्यान से पढ़ें.

-सवालों को हल करने की स्पीड की प्रैक्टिस तो आपने पहले से की होगी. उसका ध्यान रखें. पेपर 1 और पेपर 2 में निगेटिव मार्किंग होती है. गलत जवाब के लिए 1/3 नंबर काटा जाएगा.

-स्ट्रेस न लें. एग्जाम से एक दिन पहले या एग्जाम के दिन स्ट्रेस न लें. शांत दिमाग से एग्जाम दें.

ये भी पढ़ें-
UPSC:प्रति माह 2 लाख सैलरी पाने का मौका,UPSC ने निकाली जॉब
JNU Admission 2019: जानें, जेएनयू में कैसे होता है एडमिशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 1, 2019, 7:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर