• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • IAS Preparation Tips: ऑनलाइन क्लासेस, कोचिंग का बेहतर विकल्प

IAS Preparation Tips: ऑनलाइन क्लासेस, कोचिंग का बेहतर विकल्प

UPSC स‍िव‍िल सेवा की नौकरी को लोग ग्‍लैमरस समझते हैं.

UPSC स‍िव‍िल सेवा की नौकरी को लोग ग्‍लैमरस समझते हैं.

IAS Preparation Tips: लॉकडाउन के दौरान कोचिंग कक्षाएं बंद हैं, ऐसे में छात्र ऑनलाइन कक्षाओं की मदद से यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं.

  • Share this:
UPSC IAS Exam Preparation Tips: मुझे इस बात की आत्मिक खुशी है कि आई.ए.एस. की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के साथ मेरा जीवंत सम्पर्क है, और सीधा संवाद भी. लगभग-लगभग रोज ही मेरे पास कुछ न कुछ इस तरह के मेल आ ही जाते हैं:
1. सर, मैं आई.ए.एस. की तैयारी करना चाहता हूं, लेकिन मेरी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि मैं कोचिंग का लाखों रुपयों का खर्च उठा सकूं.
2. सर, मैं नौकरी में हूं, जो मेरे लिए बहुत जरूरी है. मैं नौकरी छोड़कर कोचिंग के लिए दूसरी जगह नहीं जा सकता. मैं क्या करूं. प्लीज गाइड मी.
3. सर, मेरे पास उतना समय नहीं रहता है कि मैं कोचिंग क्लास में जा सकूं. रात में कोई कोचिंग होती नहीं है.
4. सर, क्या मैं अपने घर पर ही रहकर आई.ए.एस. की तैयार कर सकता हूं?
5. मैं एक हाउस वाइफ हूं। मैं सिविल सर्विस की तैयारी करना चाहती हूं. क्या मेरे लिए कोई रास्ता है.
6. सर, मुझे समझ में ही नहीं आ रहा है कि मैं आई.ए.एस. की तैयारी की शुरुआत कैसे और कहां से करूं? आदि-आदि.

परीक्षार्थियों के ये प्रश्न, जिन्हें हम ‘समस्यायें’ भी कह सकते हैं, काल्पनिक नहीं हैं. भारत जैसे विकासशील देश के अधिकांश युवा इस तरह की सीमाओं में कैद होकर अपनी खुली हुई आंखों से अपने ही सपनों को दम तोड़ता हुआ देखते रहते हैं. निश्चित तौर पर दो-तीन साल पहले तक के समय के लिए हम कह सकते हैं कि इस कठिन समस्या का हमारे पास कोई समाधान नहीं था. लेकिन खुशी की बात यह है कि आज के वक्त के लिए हम यह कहने को बाध्य नहीं हैं.

दरअसल, टैनालॉजी ने दुनिया के कमजोर से कमजोर व्यक्ति को सशक्त करने का जो अद्भूत काम कर दिखाया है, उसने हमारी सीमाओं को असीम कर दिया है. शिक्षा के क्षेत्र में यह अद्भूत कार्य ऑनलाइन क्लासेस ने किया है. इस एक तरीके में इन सभी छः समस्याओं के आसानी के साथ समाधान पाये जा सकते हैं, जिनकी चर्चा मैंने शुरुआत में की है. आइये, इन समाधानों को हम बिन्दुवार समझते हैं:

1. ऑनलाइन क्लासेस की फीस कोचिंग संस्थानों पर होने वाले खर्च का लगभग 20 प्रतिशत होती है. यानी कि दो लाख के स्थान पर मात्र 40 हजार, तीन लाख के स्थान पर भी इतना ही और चार लाख के स्थान पर भी इतना ही. कुछ की थोड़ी अधिक भी है, लेकिन सीमा में ही.
2. इसे आप अपने घर में ही बैठकर सुनते हैं.
3. इसके लेक्चर्स आप अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी सुन सकते हैं. समस्या क्रमांक 4 एवं 5 का समाधान भी इसी में है.
4. ऑनलाइन क्लासेस शुरू एवं समाप्त करने की समस्या से आपको स्वयं ही मुक्ति दिला देते हैं.

मेरा विनम्र सुझाव है कि आपको तैयारी करने के लिए इस विकल्प पर गंभीरता से विचार ही करना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज