लाइव टीवी

IAS Struggle Story: रेलवे का वाई-फाई यूजकर कुली ने पास की सिविल सेवा परीक्षा

News18Hindi
Updated: September 16, 2019, 6:03 AM IST
IAS Struggle Story: रेलवे का वाई-फाई यूजकर कुली ने पास की सिविल सेवा परीक्षा
IAS Struggle Story: रेलवे के वाई-फाई का यूज कर इस कुली ने पास की सिविल सेवा परीक्षा

एर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर काम करने वाले श्रीकांत ने रेलवे स्‍टेशन पर फ्री वाई-फाई से UPSC की परीक्षा तैयारी की. आइए जानते हैं कि कैसे उन्‍होंने ये सफलता हासिल की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 6:03 AM IST
  • Share this:
किसी भी बड़े एग्‍जाम में सफलता पाने के लिए जरूरी होती है कई प्रकार की किताबें, अच्‍छे नोट्स, अच्‍छी कोचिंग, लेकिन क्‍या कभी आपने ये सोचा है कि जिस शख्‍स के पास ऐसे कोई संसाधन न हो लेकिन फिर भी वो देश की सबसे बड़ी और कठिन परीक्षा में शामिल होने वाली सिविल सेवा परीक्षा क्रैक कर लें. केरल से ताल्‍लुक रखने वाले श्रीकांत ने साल 2018 में UPSC एग्‍जाम क्‍लीयर कर हर किसी को हैरान किया है. पेशे से कुली श्रीकांत ने ये परीक्षा बिना किसी कोचिंग और नोट्स के पाई है. एर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर काम करने वाले श्रीकांत ने रेलवे स्‍टेशन पर फ्री वाई-फाई से UPSC की परीक्षा तैयारी की. आइए जानते हैं कि कैसे उन्‍होंने ये सफलता हासिल की.

सपना पूरा करने की ठानी
श्रीकांत कहते हैं कि मैं पिछले 5 साल से कुली के पेशे से जुड़ा हूं लेकिन कहीं न कहीं दिल में ख्‍वाहिश थी कि मैं अपने सपने को पूरा करूं, बस यही सोचकर उन्‍होंने IAS परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी.

काम और पढ़ाई साथ-साथ

पेट पालने के लिए कुली का का काम करना मजबूरी था लेकिन इस काम से जैसे ही मुझे फुर्सत मिलती थी मैं स्‍टेशन पर पढ़ने बैठ जाता था. हालांकि पढ़ने के लिए मेरे पास कोई नोट्स, किताबें, या मैंगजीन तो नहीं होती थी लेकिन मैं स्‍टेशन पर इस्‍तेमाल होने वाले फ्री वाई-फाई का इस्‍तेमाल करके लेक्‍चर के वीडियोज और ऑडियोज डाउनलोड कर लेता था और पढ़ाई करता था.

तीसरी बार में पाई सफलता
मैंने तीसरी बार में ये परीक्षा पास की है. इसके पहले मैं दो बार एग्‍जाम दे चुका था लेकिन सफलता नहीं मिली थी लेकिन मैंने हिम्‍म्‍त नहीं छोड़ी आखिरकार मेरी मेहनत रंग लाई और मुझे साल 2018 में सिविल सर्विस पीक्षा में सफलता मिल गई है.
Loading...

PM मोदी को शुक्रिया
मैं अपनी इस सफलता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं खासकर के रेलवे मंत्रालय का शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने रेलवे स्टेशनों पर इंटरनेट की ऐसी सुविधा शुरू करवाई, जिससे मेरे जैसे लोग अपनी सुविधा के अनुसार दुनिया भर की तमाम जानकारियां पा सकें और इसी के सहारे मैं अपने पहले इम्तिहान में पास हो गया हूं .

ये भी पढ़ें: 

जानें कैसे बनते हैं IAS! ये है एग्जाम पैटर्न, सेलेक्शन प्रोसेस और सैलरी
Success Stories: स्कूल में फेल हुए, कॉलेज छोड़ा लेकिन बाद में बने IAS-IPS

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 6:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...