Home /News /career /

IIT द‍िल्‍ली से ग्रेजुएट अभ‍िषेक वर्मा ने ब‍िना कोचिंग क्रैक किया UPSC Exam, म‍िली 32वीं रैंक

IIT द‍िल्‍ली से ग्रेजुएट अभ‍िषेक वर्मा ने ब‍िना कोचिंग क्रैक किया UPSC Exam, म‍िली 32वीं रैंक

अपने परिवार के साथ अभ‍िषेक वर्मा

अपने परिवार के साथ अभ‍िषेक वर्मा

IAS Success Story: ह‍िमाचल प्रदेश के अभ‍िषेक वर्मा ने किसी कोचिंग से मदद लिये बगैर ही दूसरी बार में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Services exam) पास की. जानिये अभ‍िषेक ने किस रणनीति के साथ तैयारी की और कैसे सफलता हासिल की.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :
    Success Story: अगर मैं आपसे कहूं क‍ि कोच‍िंंग क‍िए बगैर ही यूपीएससी लोक सेवा परीक्षा, आईएएस परीक्षा (UPSC IAS Exam) की तैयारी की जा सकती है, तो आपको मेरी बात पर हैरानी होगी. कोचिंग के बगैर UPSC स‍िव‍िल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Services) की तैयारी करना, सबसे मुश्‍कि‍ल काम लगता है. शायद यही वजह है क‍ि देश में IAS कोचिंग सेंटर की संख्‍या में लगातार वृद्ध‍ि हो रही है. कोचिंग सेंटर में, UPSC की तैयारी कर रहे उम्‍मीदवारों को मार्गदर्शन मिलता है. लेकिन, कुछ ऐसे भी हैं, जिनकी इससे इतर है. अभ‍िषेक वर्मा इनमें से ही एक हैं. अभ‍ि‍षेक वर्मा ने सेल्‍फ स्‍टडी के दम पर यूपीएससी (UPSC exam) में 32वीं रैंक हासिल की है. आप भी जान‍िये क‍ि अभ‍िषेक वर्मा ने यह कैसे क‍िया और आईएएस परीक्षा को लेकर उनकी रणनीति क्‍या थी.

    अभि‍षेक वर्मा की सफलता की कहानी (Success Story of Abhishek Verma):

    ह‍िमाचल प्रदेश के मंडी ज‍िला के रहने वाले अभ‍िषेक वर्मा ने साल 2017 में यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास की. हैरानी की बात यह है क‍ि इसके लिये अभ‍िषेक ने कोचिंग की मदद नहीं ली. उन्‍होंने सेल्‍फ स्‍टडी के दम पर, दूसरे अटेम्‍प में ही यूपीएससी की स‍िव‍िल सेवा परीक्षा में 32वीं रैंक हासिल की.

    अभि‍षेक वर्मा ने आईआईटी द‍िल्‍ली (IIT Delhi) से कंप्‍यूटर साइंस (Computer Science) में B.Tech किया है. यहां से पढ़ाई पूरी करने के ठीक बाद अभ‍िषेक को एक मल्‍टीनेशनल कंपनी में जॉब म‍िल गई थी. लेकिन, जॉब करने में उनकी कोई खास द‍िलचस्‍पी नहीं थी. IAS बनकर वह समाज की और देश की सेवा करना चाहते थे.

    अभ‍िषेक ने यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Service exam) की तैयारी खुद ही शुरू कर दी. साल 2016 में उन्‍होंने UPSC परीक्षा क्रैक कर 961वीं रैंक हासिल की. इस रैंक के तहत, उनका सेलेक्‍शन इंडियन एकाउंटिंग एंड एकाउंट्स सर्व‍िस (Indian Accounting and Accounts Service, IS&AS) के ल‍िये हुआ. इस नौकरी के दौरान उनकी ट्रेनिंग शिमला स्‍थ‍ित नेशनल एकेडमी में हुई.

    हालांकि अभ‍िषेक ने पहली बार में ही यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Services)पास कर ली थी. लेकिन, वह अपनी रैंक से संतुष्‍ट और खुश नहीं थे. ल‍िहाजा साल 2017 में एक बार फ‍िर उन्‍होंने यूपीएससी की परीक्षा दी और इस बार, उन्‍होंने 32वीं रैंक प्राप्‍त की.

    सेल्‍फ स्‍टडी ज्‍यादा कारगर:
    अभ‍िषेक वर्मा के अनुसार, यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के ल‍िये क‍िसी कोचिंग की मदद लेने की बजाय, सेल्‍फ स्‍टडी ज्‍यादा कारगर है. उन्‍होंने कहा क‍ि साल 2016 और साल 2017- दोनों वर्ष का पेपर बहुत मुश्‍कि‍ल था. साल 2016 में 50 फीसदी सवाल करेंट अफेयर्स से थे. जबक‍ि साल 2017 में पेपर काफी संतुल‍ित था.

    क्‍या थी सफलता की रणनीत‍ि:
    अपनी तैयारी और रणनीति के बारे में अभ‍िषेक वर्मा ने कहा क‍ि एक टॉपिक के ल‍िये मैंने हमेशा एक सोर्स से ही तैयारी की. हर टॉप‍िक के ल‍िए, अलग-अलग श्रोतों से तैयारी करने के कारण, उम्‍मीदवार उलझ जाते हैं और इससे उनका समय भी ज़ाया होता है.

    दूसरी जो सबसे महत्‍वपूर्ण बात है, वह ये क‍ि पढ़ाई के साथ उसका र‍िवीजन भी जरूरी है. क्‍योंकि आप जब तक र‍िवीजन नहीं करेंगे, आपको फैक्‍ट्स और डेटा याद रखने में परेशानी आएगी.

    तीसरी सबसे जरूरी चीज है- प‍िछले वर्षों के पेपर. जी हां, सफलता के ल‍िये यह जरूरी है क‍ि आप प‍िछले साल की यूपीएससी परीक्षा के पेपर सॉल्‍व करें. इससे आपको पैटर्न का अंदाजा लगेगा. परीक्षा की तैयारी में इससे काफी मदद म‍िलती है.

    अभ‍िषेक के अनुसार, अगर आपकी रणनीति सही है तो सेल्‍फ स्‍टडी के जर‍िये ही पूरा सिलेबस कवर क‍िया जा सकता है. परीक्षा की बेसिक को समझकर, उम्‍मीदवार को राइटिंग और र‍िवीजन, दोनों को बराबर समय देना चाह‍िए.

    यह भी पढ़ें:
    क्या आप जानते हैं कौन था देश का पहला SC-ST आईएएस ऑफिसर
    जानें कैसे बनते हैं IAS! ये है एग्जाम पैटर्न, सेलेक्शन प्रोसेस और सैलरी
    Success Stories: स्कूल में फेल हुए, कॉलेज छोड़ा लेकिन बाद में बने IAS-IPS

    Tags: IAS exam, Success Story

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर