लाइव टीवी

IAS Success Story: जानिए उस लड़की की कहानी, जिसने जॉब के साथ क्रैक किया UPSC एग्‍जाम

News18Hindi
Updated: October 28, 2019, 3:09 PM IST
IAS Success Story: जानिए उस लड़की की कहानी, जिसने जॉब के साथ क्रैक किया UPSC एग्‍जाम
IAS Success Story: नेहा ने जॉब के साथ-साथ साल 2018 में सिविल सेवा की परीक्षा में 414 रैंक हासिल की, आखिर नेहा ने कौन सी ट्रिक्‍स अपनाई, आइए जानते हैं.

IAS Success Story: नेहा ने जॉब के साथ-साथ साल 2018 में सिविल सेवा की परीक्षा में 414 रैंक हासिल की, आखिर नेहा ने कौन सी ट्रिक्‍स अपनाई, आइए जानते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2019, 3:09 PM IST
  • Share this:
IAS Success Story: यूपीएससी की परीक्षा सबसे मुश्‍किल परीक्षाओं में से एक मानी जाती है. इस एग्‍जाम को क्रैक करने के लिए उम्‍मीदवार दिन- रात एक कर देते हैं. सोलह-सोलह घंटे तक पढ़ाई करते हैं. वहीं एक लड़की ऐसी भी है, जिन्‍होंने जॉब के साथ-साथ IAS की तैयारी की न केवल तैयारी की बल्‍कि क्रैक भी कर लिया. इस लड़की का नाम है नेहा यादव. नेहा ने जॉब के साथ-साथ साल 2018 में सिविल सेवा की परीक्षा में 414 रैंक हासिल की. कैसे पास किया ये एग्‍जाम. कौन सी ट्रिक्‍स अपनाईं. आइए जानते हैं.

दरअसल नेहा UPSC क्रैक करने से नेहा पहले 2.5 साल तक मेडिकल ऑफिसर के तौर पर कार्यरत थीं. वे नौकरी के साथ-साथ यूपीएससी की तैयारी की. हालांकि पहली बार जब उन्‍होंने ये एग्‍जाम दिया था उस वक्‍त वे जॉब में नहीं थीं.

सिलेबस को अच्‍छी तरह समझें
एक इंटरव्‍यू में नेहा ने बताया कि UPSC के सिलेबस को कवर करने में छह से सात महीने निकल जाते हैं. ऐसे में अगर आपने सिलेबस को पूरी तरह से कवर नहीं किया है तो हताश होने की जरूरत नहीं है.बस कोशिश ये करें कि जितना पढ़ा है वो ठीक तरह से समझ जाएं. उसके कॉन्‍सपेट बिल्‍कुल क्‍लीयर हों.

टाइम मैनेजमेंट पर करें फोकस
नेहा कहती हैं कि किसी भी परीक्षा को क्रैक करने के लिए जरूरी होता है कि टाइम मैनेजमेंट का ध्‍यान रखा जाए लेकिन अक्‍सर हम ऐसा नहीं कर पाते. खासतौर पर जॉब के दौरान तो बिल्‍कुल नहीं. इसलिए  टाइम मैनेजमेंट को समझना होगा.आप किस समय पर क्‍या करें, जिससे आपको पढ़ने का समय मिल सकें. ट्रैवलिंग में समय बिजाने के बजाए जहां जॉब करते हैं. वहीं आस-पास शिफ्ट हो जाएं. बचे हुए वक्‍त में पढ़ें.

neha yadav जॉब से एक  महीने ली छुट्टी
Loading...

नेहा का कहना है कि उन्‍होंने एग्‍जाम के लिए एक महीने पहले छु्ट्टी भी ली थी, जिससे घर में रहकर पढ़ाई कर सकूं.
खाना भी खुद नहीं बनाती
नेहा कहती हैं कि समय बचाने के लिए, उनहोंने खाना भी खुद नहीं बनाया था.खाना बनाने में समय न बर्बाद हो इसलिए वे हॉस्‍टल में रहती थीं. इस वक्‍त मेंं वो ज्‍यादा से ज्‍यादा पढ़ती थीं.

तीसरे प्रयास में मिली सफलता
नेहा ने बताया कि उन्‍होंने पहली बार साल 2016 में एग्‍जाम दिया था लेकिन तब वे सफल नहीं हो पाई थीं. उस वक्‍त वे सिर्फ 13 नंबर से चूक गई थीं. इसके बाद जब उन्‍होंने दूसरी बार परीक्षा दी तो सिर्फ एक नंबर से प्रीलिम्‍स नहीं निकाल पाई. तीसरी बार में उन्‍हें UPSC की परीक्षा हासिल हुई थी.

ये भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 5:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...