Home /News /career /

IAS Success Story: इंटरव्‍यू में नहीं दे सकी 3 सवालों के जवाब, IAS बनी DTC ड्राइवर की बेटी

IAS Success Story: इंटरव्‍यू में नहीं दे सकी 3 सवालों के जवाब, IAS बनी DTC ड्राइवर की बेटी

प्रीत‍ि हुड्डा ने दूसरे अटेम्‍प मेंं ही यूपीएससी परीक्षा क्रैक कर ली.

प्रीत‍ि हुड्डा ने दूसरे अटेम्‍प मेंं ही यूपीएससी परीक्षा क्रैक कर ली.

IAS Success Story: ह‍िन्‍दी मीड‍ियम से यूपीएससी परीक्षा (UPSC IAS Exam) देने वाली डीटीसी बस ड्राइवर की बेटी ने इंटरव्‍यू में तीन सवालों के जवाब नहीं द‍िये थे. फ‍िर भी वह आईएएस (IAS) अध‍िकारी बन गईं. जान‍िये कैसे

    IAS Success Story: न्‍यूज18 हिन्‍दी पर आप हर दिन एक सफलता और संघर्ष की कहानी पढ़ते हैं. खासतौर से आईएएस अधिकारी (IAS) बनने की चाहत रखने वाले या इस परीक्षा की तैयारी करने वालों के लिये हर दिन यहां एक प्रेरक कहानी जरूर होती है. आज हम जिसकी कहानी लेकर आए हैं, उनका नाम प्रीति हुड्डा है. प्रीत‍ि की कहानी उन सभी उम्‍मीदवारों के ल‍िये प्रेरणादायक होगी, जो ये सोचते हैं क‍ि ह‍िन्‍दी मी‍ड‍ियम से UPSC परीक्षा देने वाले अभ्‍यर्थ‍ियों को कामयाबी नहीं मिलती.

    साल 2017 में प्रीति हुड्डा ने यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा (UPSC CSE Exam) पास क‍िया. प्रीति हुड्डा ने ना तो इंग्‍ल‍िश मीडियम से परीक्षा दी थी और ना ही इंटरव्‍यू में उन्‍होंने सभी सवालों के जवाब द‍िये. फिर भी साल 2017 में उन्‍होंने 288वां रैंक हासिल किया.

    घर के हालात नहीं थे ठीक:
    हरियाणा की रहने वाली प्रीत‍ि के घर की माली हालत कुछ ठीक नहीं थी. उनके प‍िता डीटीसी बस के ड्राइवर थे. उनकी छोटी सैलरी में पूरे परिवार का भरण-पोषण और पढ़ाई आसान नहीं था. प्रीति ने अपनी दूसरी जरूरतों को नजरअंदाज कर पढ़ाई पर फोकस क‍िया और अपनी पढ़ाई के साथ कभी कोई समझौता नहीं क‍िया. एम.फिल करने के साथ ही प्री‍त‍ि ने आईएएस परीक्षा की तैयारी जोरों से शुरू कर दी.

    दूसरी बार में मिली सफलता:
    प्रीत‍ि को आईएएस परीक्षा में दूसरी बार में सफलता मिली. पहली बार चूकने के बावजूद उनका आत्‍मविश्‍वास कम नहीं हुआ. बल्‍क‍ि परीक्षा देने के बाद अब उन्‍हें इस बात का एहसास हो गया था क‍ि परीक्षा की तैयारी कैसे करनी है. प्रीति ने स‍िलेबस के अनुसार पढ़ाई की और दूसरे ही अटेम्‍प में आईएएस एग्‍जाम क्रैक कर ल‍िया.

    हिन्‍दी में दी परीक्षा और पाई सफलता:
    प्रीत‍ि ने यूपीएससी परीक्षा ह‍िन्‍दी में दी और इंटरव्‍यू में भी उन्‍होंने ह‍िन्‍दी भाषा में ही बात की. उन्‍होंने कहा क‍ि आप ज‍िस भाषा में आत्‍मविश्‍वास महसूस करते हैं, उसी भाषा में परीक्षा दें और उसी भाषा के साथ इंटरव्‍यू में शामिल हों.

    तैयारी के दौरान देखी फ‍िल्‍में:
    यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा को लेकर गंभीरता जरूरी है. लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है क‍ि आप मनोरंजन भी ना करें. तैयारी को बोझि‍ल बनाने की बजाय, उसे रोचक बनाना ज्‍यादा जरूरी है. सिविल परीक्षा की तैयारी करते हुए प्रीत‍ि ने कई बार फ‍िल्‍में देखीं और वह दोस्‍तों के साथ घूमने भी गईंं, लेक‍िन इसका असर उनकी पढ़ाई पर नहीं हुआ.

    इंटरव्‍यू में नहीं द‍िये सारे जवाब:
    प्रीत‍ि ने इंटरव्‍यू में सभी सवालों के जवाब नहीं द‍िये थे. वह तीन सवालों के जवाब देने से चूक गई थीं. प्रीत‍ि के अनुसार, इंटरव्‍यू में आपके आत्‍मविश्‍वास की जांच होती है. यह संभव ही नहीं है क‍ि आपको सभी सवालों के जवाब आते हों. इसल‍िये सवालों के जवाब आपको नहीं मालूम हैं, उनके जवाब देने से मना कर दें.

    यह भी पढ़ें:
    IAS Success Story: पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे को UPSC में पहले प्रयास में मिली सफलता
    Success Story: 6 साल में पटवारी से IPS ऑफिसर बना किसान का बेटा, नौकरी करते हुए ऐसे की तैयारी

    Tags: IAS exam, Success Story, UPSC, UPSC Exams

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर