Success Story: कभी पढ़ाई छोड़ने को मजबूर था ये IRS अफसर

News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 3:50 PM IST
Success Story: कभी पढ़ाई छोड़ने को मजबूर था ये IRS अफसर
यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन

IRS Success Story: शेखर के माता-पिता कार एक्सीडेंट में बुरी तरह घायल हो गए थे. इस एक्सीडेंट में मां पैरेलाइज हो गई थीं जबकि पिता कोमा में चले गए थे. उस दौरान शेखर को अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी. ऐसे हालातों में भी उन्‍होंने सबसे मुश्‍किल परीक्षा UPSC क्रैक किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2019, 3:50 PM IST
  • Share this:
IRS Success Story: न्‍यूज 18 हिंदी हर दिन आपको एक IAS अधिकारी के संघर्ष की कहानी बताता है. इसी कड़ी में आज हम आपको एक ऐसे शख्‍स से मिलाने जा रहे हैं, जिनके सामने एक समय में ऐसी स्‍थिति आ गई थी कि उन्‍हें अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी थी. इसके बावजूद उन्‍होंने हार नहीं मानी. वे लगातार संघर्ष करते रहे. आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई और आज उन्‍होंने देश की सबसे  प्रतिष्‍ठित और कठिन परीक्षाओं में शुमार UPSC की परीक्षा क्रैक कर ली है. जी हां साल 2010 में बैच के आईआरएस (Indian Revenue Service) ऑफिसर हैं. इस शख्‍स का नाम है शेखर कुमार. बिहार से ताल्‍लुक रखने वाले शेखर ने कैसे पाया उन्‍होंने ये मुकाम.

बिहार से दसवीं तक की पढ़ाई
शेखर ने स्‍कूल की पढ़ाई बिहार से थी, लेकिन 10वीं के बाद दिल्‍ली आ गए थे. यहां से उन्‍होंने आगे की पढ़ाई पूरी की. शेखर हालांकि प्रोफेसर बनना चाहते  थे  लेकिन उनके माता-पिता का सपना तो कुछ और ही था.

IAS बनने का देखा था ख्वाब

शेखर के माता-पिता ज्‍यादा पढ़े-लिखे नहीं थे, इसलिए वे अपने सपने को बेटे के जरिए पूरा कराना चाहते थे. माता-पिता की ख्‍वाहिश थी कि शेखर IAS अधिकारी  बनें.

पढ़ाई छोड़ने पर मजबूर
रिपोर्ट के मुताबिक बचपन में शेखर के माता-पिता कार एक्सीडेंट में बुरी तरह घायल हो गए थे. इस एक्सीडेंट में मां पेरेलाइज हो गईं थी जबकि पिता कोमा में चले गए थे. उस दौरान शेखर और उनके भाई दोनों को ही पढ़ाई छोड़नी पड़ी.इस एक्सीडेंट के बाद पिता डिप्रेशन में चले गए थे, लेकिन मां के विश्वास ने उन्हें फिर से उठने के लिए हौसला दिया.
Loading...

पिता ने दी हिम्‍मत
मां के कहने पर शेखर ने फिर से पढ़ाई शुरू की और दिल्ली से ग्रेजुएशन किया. इसके बाद वे अपने पिता के सपने को साकार करने के लिए सिविल सर्विस की तैयारी में जुट गए. हालांकि इस एक्सीडेंट के बाद शेखर बुरी तरह टूट चुके थे लेकिन फिर भी पिता के सपोर्ट ने उन्‍हें हिम्‍मत दी.

 एक बार छूट गई थी परीक्षा
पहली बार जब वो परीक्षा देने गए, तब परीक्षा में 10 मिनट लेट पहुंचने की वजह से उन्हें पेपर नहीं देने दिया गया. इसकी वजह से उनका पूरा साल बर्बाद हो गया. इस घटना के बाद उन्‍होंने UPSC में जाने का सपना ही छोड़ दिया था.

मां के कहने पर दिया दोबारा एग्‍जाम
एक बार परीक्षा छुटने के बाद उन्होंने बैंक की भी परीक्षा दी थी, जिसमें वो सेलेक्ट हो गए थे. इसके बाद मां के कहने पर उन्होंने फिर से यूपीएससी की परीक्षा दी, जिसमें वो सेलेक्ट हो गए.

ये भी पढ़ें- हरियाणा स्टेट एपेक्स बैंक में 978 वैकेंसी, लाखों में सैलरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...