• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर NSUI का बड़ा बयान, कहा-छात्रों की जान जोखिम में डाल रही सरकार

फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर NSUI का बड़ा बयान, कहा-छात्रों की जान जोखिम में डाल रही सरकार

कोरोना वायरस के चलते इस बार परीक्षा में देरी हो रही है.

कोरोना वायरस के चलते इस बार परीक्षा में देरी हो रही है.

एनएसयूआई (NSUI) ने कहा, जब आईआईटी बांबे (IIT Bombay) फाइनल ईयर की परीक्षाएं (Final Year Exam) रद्द कर सकती है तो ​बाकी संस्थान ऐसा क्यों नहीं कर सकते.

  • Share this:
    नई दिल्ली. यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन यानी यूजीसी (UGC) ने नई गाइडलाइंस जारी कर सितंबर के अंत तक यूनिवर्सिटी के फाइनल ईयर के एग्जाम (Universities Final Year Exam) आयोजित करने की बात कही है. इस फैसले पर नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन आफ इंडिया यानी एनएसयूआई (NSUI) ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है. एनएसयूआई ने एग्जाम कराए जाने के फैसले को संकुचित मानसिकता करार दिया तो इसे छात्रों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक भी बताया. एनएसयूआई का कहना है कि जब आईआईटी बांबे फाइनल ईयर के एग्जाम रद्द कर सकती है तो बाकी की यूनिवर्सिटीज ऐसा क्यों नहीं कर सकती.

    स्टूडेंट्स और उनके परिवार को खतरा
    इस बारे में एनएसयूआई ने आधिकारिक स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा, ये दुखद है कि यूनिवर्सिटीज में सारी बातों से ज्यादा इस बात की अहमियत है कि एक एग्जाम में किसके कितने नंबर आते हैं. ये बिल्कुल गलत धारणा है कि अगर फाइनल ईयर के एग्जाम नहीं होते हैं तो डिग्री की अहमियत खत्म हो जाएगी. अधिकतर अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में फाइनल सेमेस्टर छह सेमेस्टर में से मात्र एक सेमेस्टर ही होता है. ऐसे में पिछले सेमेस्टर या इंटरनल असेसमेंट के आधार पर नतीजा हासिल किया जा सकता है. आफलाइन एग्जाम के बारे में एनएसयूआई ने कहा, कई स्टूडेंट्स को कोरोना वायरस के चलते जल्दबाजी में घर लौटना पड़ा. ऐसे में उनके पास स्टडी मैटिरियल भी नहीं है. बेशक एग्जाम सेंटर पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया भी जाता है तो भी अपने—अपने घरों से यूनिवर्सिटी के रास्ते में छात्रों और उनके परिवारों को बड़ा खतरा हो सकता है.

    ये भी पढ़ें
    9वीं, 11वीं में फेल छात्रों के लिए केंद्रीय विद्यालय ने लिया बड़ा फैसला, पढ़ें
    बदले पैटर्न में कैसे करें UPPCS इंटरव्यू की तैयारी, जानें सारी डिटेल

    सितंबर अंत तक कराए जाने हैं एग्जाम
    यूजीसी ने अपनी नई गाइडलाइन में साफ कर दिया है कि यूनिवर्सिटीज के फाइनल सेमेस्टर के एग्जाम अब सितंबर के अंत तक पूरे कराए जाएंगे. पहले ये परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई के बीच कराई जानी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज