इग्नू कराएगा ये अनोखा डिप्लोमा कोर्स, पढ़ाई खत्म करते ही मिलेगी नौकरी

IGNOU Admission 2018: इग्नू के इस कोर्स का नाम पीजी सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन एक्यूपंक्चर है. जानिए इस कोर्स के बारे में सब कुछ

News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 4:21 PM IST
इग्नू कराएगा ये अनोखा डिप्लोमा कोर्स, पढ़ाई खत्म करते ही मिलेगी नौकरी
सांकेतिक तस्वीर Image: Pxhere.com
News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 4:21 PM IST
इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी जल्द ही एक अनोखा कोर्स शुरू करने जा रहा है. दरअसल इग्नू से संबंद्ध स्कूल ऑफ हेल्थ साइंस एक्यूपंचर पर डिप्लोमा कोर्स करवाएगा. इस कोर्स का नाम पीजी सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन एक्यूपंक्चर है. हालांकि इस कोर्स में केवल मेडिकल ग्रेजुएट्स ही दाखिला ले सकते हैं. एलोपैथी, आयुर्वेद, योग, नेचुरोपैथी, होमियोपैथी या डेंटिस्ट्री में ग्रेजुएशन पूरा कर चुके कैंडिडेट्स इग्नू के इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं.

क्या होता है एक्यूपंक्चर
एक्यूपंक्चर इलाज का एक तरीका है. एक्यु चीनी भाषा का शब्द है जिसका मतलब होता है पॉइंट. अगर शरीर के कुछ खास पॉइंट्स पर सूई से पंक्चर (छेद) कर इलाज किया जाए तो इस प्रक्रिया को एक्यूपंक्चर प्रक्रिया कहते हैं. इस इलाज की सबसे खास बात है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता. हालांकि इस प्रक्रिया से रोगी को फायदा होने में थोड़ा समय जरूर लग सकता है.



एक्यूपंक्चर और एक्यूप्रेशर में है अंतर
एक्यूपंक्चर और एक्यूप्रेशर दोनों अलग-अलग चीजें हैं. एक्यूपंक्चर में जहां शरीर के कुछ खास पॉइंट्स पर सूई से छेद किया जाता है वहीं एक्यूप्रेशर उन्हीं पॉइंट्स पर हाथ से या किसी इक्विपमेंट से दबाव डाला जाता है.

ऐसे ले सकते हैं इग्नू के इस कोर्स में दाखिला
अगर आप इस कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं तो इग्नू की ऑफिशियल वेबसाइट ignou.ac.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. इस कोर्स के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 16 अगस्त है इसलिए अगर आप इस कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो जल्द से जल्द इसके लिए अप्लाई कर दें.

जॉब नहीं मिली तो किया ये काम, अब Google-Netflix जैसी कंपनियों से आ रहे कॉल


जानें क्या है फीस
इग्नू इसके लिए आपको किताबें और स्टडी मैटेरियल मुहैया करवा देगा. यह कोर्स नौ इग्नू केंद्रों पर उपलब्ध है. अगर आप दिल्ली, हुबली (कर्नाटक), नासिक (महाराष्ट्र), इंदौर (मध्य प्रदेश), कोटा (राजस्थान), चेन्नई (तमिलनाडु), राउलकेला (ओडिशा), लुधियाना (पंजाब) और कोलकाता (पश्चिम बंगाल) के रहने वाले हैं तो वीकेंड में इन केंद्रों पर जाकर इस कोर्स की पढ़ाई कर सकते हैं. इसके अलावा इग्नू ने आपको ये सुविधा भी दी है कि आप इस कोर्स को एक से तीन साल के बीच कभी भी पूरा कर सकते हैं. इस कोर्स की फीस 30 हजार रुपए है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर