• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • IIT Alumni Council ने बैन किए चाइनीज सॉफ्टवेयर, पढ़ें पूरी ख़बर

IIT Alumni Council ने बैन किए चाइनीज सॉफ्टवेयर, पढ़ें पूरी ख़बर

IIT Alumni Council ने MegaLab समेत अपने सभी चीनी सिस्टम और सॉफ्टवेयर को खत्म करने की घोषणा की है.

IIT Alumni Council ने MegaLab समेत अपने सभी चीनी सिस्टम और सॉफ्टवेयर को खत्म करने की घोषणा की है.

आईआईटी पूर्व छात्र परिषद डेटा सुरक्षा, गोपनीयता और सुनिश्चित डेटा अखंडता के लिए (Blockchain protected public cloud infrastructure) ब्लॉकचेन संरक्षित सार्वजनिक क्लाउड बुनियादी ढांचे के डिजाइन की सुविधा प्रदान करेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच बढ़े तनाव के मद्देनजर भारत सरकार की ओर से 59 चाइनीज ऐप (59 Chinese Apps Banned) पर रोक लगाने के बाद IIT Alumni Council (IIT पूर्व छात्र परिषद) ने भी MegaLab समेत अपने सभी चीनी सिस्टम और सॉफ्टवेयर को खत्म करने की घोषणा की है.

    आईआईटी पूर्व छात्र परिषद डेटा सुरक्षा, गोपनीयता और सुनिश्चित डेटा अखंडता के लिए (Blockchain protected public cloud infrastructure) ब्लॉकचेन संरक्षित सार्वजनिक क्लाउड बुनियादी ढांचे के डिजाइन की सुविधा प्रदान करेगा. इसके जरिए ही Covid के निदान और उपचार के डेटा को संभाला जाएगा.

    अधिकृत उपयोगकर्ताओं के बीच साझा करने के लिए रिसर्च और प्रासंगिक पब्लिक पॉलिसी डेटा भी blockchain protected public Cloud system पर अपलोड किया जाएगा. RTPCR इंड्ट्री में उपयोग किए जाने वाले सॉफ़्टवेयर को तत्काल प्रभाव से हटाकर उनकी जगह स्वदेशी तकनीकों को लाया जाएगा.

    स्वदेशी चीज़ों पर काम
    परिषद पिछले कुछ हफ्तों से चीनी सिस्टम और सॉफ्टवेयर को बदलने के लिए स्वदेशी और लागत प्रभावी समाधान विकसित करने के लिए विभिन्न तकनीकी और अनुसंधान संस्थानों के साथ सक्रिय रूप से काम कर रही है.

    इसी पहल के साथ IIT रूढ़की प्लास्टिक डिस्पोजेबल्स पर काम कर रही है. ICT मुंबई Megalab में इस्तेमाल की जाने वाली RTPCR 2.0 टेस्ट किट्स के प्रोडक्शन पर काम कर रही है.

    ये भी पढ़ें
    जरूरी खबर : एग्जाम को लेकर सीबीएसई बोर्ड का अहम फैसला, जारी किया नोटिस
    Kerala SSLC Result 2020: नेत्रहीन हारून ने पाई A plus ग्रेड, कंप्यूटर से दिए थे पेपर

    बता दें कि  केंद्र सरकार ने टिक टॉक और यूसी ब्राउजर (Tik Tok and UC) जैसे 59 चाइनीज ऐप्‍स को बैन (Chinese Apps Ban in India) कर दिया है. ये प्रतिबंध लद्दाख क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सैनिकों के साथ मौजूदा तनावपूर्ण स्थितियों के बीच लगाए गए हैं. प्रतिबंधित सूची में वीचैट, बीगो लाइव, हेलो, लाइकी, कैम स्कैनर, वीगो वीडियो, एमआई वीडियो कॉल- शाओमी, एमआई कम्युनिटी, क्लैश ऑफ किंग्स के साथ ही ई-कॉमर्स प्लेटफार्म क्लब फैक्टरी और शीइन शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज