लाइव टीवी

IAS Success Story: IIT दिल्ली के स्टूडेंट ने कई बार असफल होने पर भी नहीं मानी हार, ऐसे क्रैक किया UPSC का एग्जाम

News18Hindi
Updated: January 26, 2020, 5:06 AM IST
IAS Success Story: IIT दिल्ली के स्टूडेंट ने कई बार असफल होने पर भी नहीं मानी हार, ऐसे क्रैक किया UPSC का एग्जाम
स्वामी विवेकानंद की बात पर आईआईटी दिल्ली के स्टूडेंट वर्जीत वालिया ने अमल किया और उनकी पूरा जिंदगी बदल गई.

IAS Success Story: स्वामी विवेकानंद की बात पर आईआईटी दिल्ली के स्टूडेंट वर्जीत वालिया ने अमल किया और उनकी पूरी जिंदगी बदल गई. 2017 के यूपीएससी का एग्जाम में 21वीं रैंक लाकर वालिया ने दिखा दिया कि मेहनत कभी बेकार नहीं जाती.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2020, 5:06 AM IST
  • Share this:
IAS Success Story: आईआईटी दिल्ली के स्टूडेंट वर्जीत वालिया यूपीएससी की परीक्षा में तीन बार नाकाम हुए, लेकिन इसके बाद भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी और लक्ष्य को पाने के लिए लगातार मेहनत करते हैं. वर्जीत जितनी बार नाकाम होते थे, उनको स्वामी विवेकानंद की यह बात याद आती थी, जिसमें उन्होंने कहा था, 'उठो, जागो और लक्ष्य को पाने के लिए तबतक मेहनत करते रहो जब तक कि आपको लक्ष्य न हासिल हो जाए. वर्जीत स्वामी विवेकानंद की इस बात से प्रभावित थे और उन्होंने असफल होने पर प्रयास को और भी बढ़ा दिया. उनकी मेहनत ने चौथे प्रयास में रंग दिखाया और 2017 में यूपीएससी की परीक्षा वर्जीत को कामयाबी मिली. उन्होंने ऑल इंडिया में 21वीं रैंक हासिल कर लोगों को दिखा दिया की मेहनत कभी बर्बाद नहीं जाती.

2013 में शुरू की थी तैयारी
वालिया 2013 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हुए थे. तब उन्होंने सोशलॉजी को ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में चुना था. परीक्षा को निकालने के लिए वर्जीत ने कोचिंग की और पहले प्रयास में प्रारंभिक परीक्षा में सफल भी रहे, लेकिन मेन एग्जाम नहीं निकाल पाए. इस असफलता के बाद वर्जीत ने खुद का मूल्यांकन किया और परीक्षा की तैयारी में दोबारा जुट गए.

IIT Delhi, IIT Delhi student, cracked, UPSC exam, in fourth attempt, IAS Success Story, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी, दिल्ली, आईआईटी स्टूडेंट, आईएएस एग्जाम, सफलता. यूपीएससी, प्रसाशनिक सेवा, संघ लोक सेवा आयोग
आईआईटी दिल्ली के स्टूडेंट वर्जीत वालिया यूपीएससी की परीक्षा में तीन बार नाकाम हुए, लेकिन इसके बाद भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी .


वर्जीत ने एक बार फिर रणनीति बदली और सोशलॉजी को छोड़कर फिजिक्स को ऑप्शनल सब्जेक्ट बनाया. इस बार देश में उनकी 577वीं रैंक आई थी, लेकिन यह उम्मीद के मुताबिक बहुत ही कम थी. इसके बाद उनका चयन इंडियन रेलवे में ट्रैफिक सर्विस में चयन हो गया. वर्जीत ने इस नौकरी को ज्वॉइन किया, लेकिन उनका मन यहां भी नहीं लगा. वर्जीत यूपीएससी का एग्जाम लगातार देते रहे, लेकिन उनको यहां भी सफलता नहीं मिली. वर्जीत तीन बार यूपीएससी के एग्जाम में असफल हो चुके थे लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी. तीन-तीन बार असफल होने पर वर्जीत को अब एग्जाम और तैयारी की रणनीति के बारे में पता चल गया था.

अबकी बार वर्जीत पूरी तैयारी के साथ मैदान में थे. चौथी बार वर्जीत ने रणनीति में कई तरह के बदलाव किए और यूपीएससी के एग्जाम में कूद पड़े. आखिर इस बार उनकी मेहनत रंग लाई और उन्होंने देश में  21वीं रैंक हासिल की और उनका भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चयन हुआ.

ये भी पढ़ें- IAS Success Story: कभी होटल में वेटर रहे शख्स ने सातवें प्रयास में पास किया IAS का एग्जाम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 5:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर