Home /News /career /

कमजोर छात्रों के लिए IIT ला सकता है नया प्लान, 3 साल में B.Sc. की डिग्री लेकर हो सकेंगे बाहर- रिपोर्ट

कमजोर छात्रों के लिए IIT ला सकता है नया प्लान, 3 साल में B.Sc. की डिग्री लेकर हो सकेंगे बाहर- रिपोर्ट

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली (IIT Delhi) मेंं नौकरी पाने का अवसर

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली (IIT Delhi) मेंं नौकरी पाने का अवसर

पिछले दो सालों में IIT से बी.टेक और पोस्ट-ग्रेजुएट प्रोग्राम्स के 2,461 छात्र बाहर हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    देश के प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान IIT में दाखिला ले लेने पर ही चुनैतियां खत्म नहीं होती हैं. दाखिला लेने के बाद भी वहां रहकर चार साल तक पढ़ाई करना और अच्छे नंबरों से पास होना अपने आप में बेहद मशक्कत और चुनौती भरा काम है. IIT में चार साल पढ़ने के दौरान सामने आने वाली चुनौतियों पर खरे नहीं उतर पाने वाले छात्रों को बाहर का रास्ता देखना पड़ता है. पिछले दो सालों में आईआईटी से बी.टेक और पोस्ट-ग्रेजुएट प्रोग्राम्स के 2,461 छात्रों को खराब शैक्षणिक प्रदर्शन के कारण बाहर जाना पड़ा.

    हालांकि अब खबर है कि IIT पढ़ाई में कमजोर छात्रों को तीन साल के बाद इंजीनियरिंग में B.Sc. डिग्री के साथ बाहर निकलने की अनुमति दे सकता है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, ये प्रस्ताव आईआईटी परिषद की बैठक में एजेंडे पर है. वर्तमान में सभी आईआईटी में अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम्स में दाखिला लेने वाले स्टूडेंट्स को आठ सेमेस्टर या चार साल पूरा करने के बाद बीटेक की डिग्री दी जाती है. हालांकि, कमजोर ग्रेड वाले छात्र बीच में ही छोड़ देते हैं.

    2,461 छात्र बाहर हुए पिछले दो वर्षों में 
    मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा संसद में साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले दो वर्षों में आईआईटी से बी.टेक और पोस्ट-ग्रेजुएट प्रोग्राम्स के 2,461 छात्र बाहर हुए. बाहर हुए छात्रों में कमजोर शैक्षणिक प्रदर्शन के कारण बाहर निकाले गए मामले शामिल हैं.

    उदाहरण के लिए इस साल, आईआईटी-कानपुर ने खराब ग्रेड के आधार पर 18 छात्रों को निष्कासित किया, जिनमें से आधे बीटेक छात्र थे. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने ऐसे छात्रों के लिए ही प्रस्ताव दिया है कि उन्हें आईआईटी से छह सेमेस्टर के बाद बाहर निकालने का विकल्प रखें.

    तीन साल के बाद छोड़ देंगे IIT
    रिपोर्ट में बताया गया है कि काउंसिल के एजेंडे के मुताबिक, IIT को अकादमिक रूप से कमजोर छात्रों को दूसरे सेमेस्टर के बाद B.Sc. के सेलेक्शन की अनुमति देने के प्रस्ताव को मंजूरी करने को कहा गया है, जिससे कि वे स्टूडेंट्स तीन साल के बाद छोड़ दें, बशर्ते वे न्यूनतम शैक्षणिक मानकों को पूरा कर चुके हों. अगर ये प्रस्ताव पास होता है तो सभी IIT संस्थानों में इसे वर्तमान शैक्षणिक सत्र से लागू किया जाएगा.

    ये भी पढे़ं-

    CBSE CTET December 2019: CTET दिसंबर 2019 परीक्षा के लिये आवेदन की आखिरी तारीख
    IAS Success Story: जो लोग कहें- कब तक करोगे तैयारी, ऐसे लोगों से बना लें दूरी
    Tamil Nadu TEU B.Sc B.Ed Results 2019: रिजल्‍ट घोषित, tnteu.ac.in पर करें चेक

    Tags: IIT, IIT CHENNAI, IIT Exam, Iit kanpur, Iit roorkee

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर