IIT के छात्रों ने बनाया 'फूड बडी', बगैर हाथ वालों को खिलाएगा खाना

'एलेक्सा' के जरिए कमांड मिलने के बाद 'फूड बडी' में लगे बटन को स्टार्ट करते ही उपकरण शुरू हो जाएगा. 'फूड बडी' को स्टार्ट, बीच में रोका (रिज्यूम) किया जा सकता है.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 12:05 PM IST
IIT के छात्रों ने बनाया 'फूड बडी', बगैर हाथ वालों को खिलाएगा खाना
थाली में रखे भोजन को चम्मच से मुंह में खिलाएगा 'फूड बडी'
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 12:05 PM IST
IIT के छात्रों ने एक ऐसा उपकरण बनाया है जो थाली से खाना उठाकर आपने मुंह में खिला सकने में सक्षम है. ये उपकरण सबसे ज्यादा उन लोगों के लिए मददगार साबित होगा, जिनके हाथ नहीं, जो दिव्यांग हैं. उपकरण बनाने वाले छात्रों ने इसे 'फूड बडी' नाम दिया है.

'फूड बडी' वॉइस कमांड डिवाइस 'एलेक्सा' के जरिए चलेगा. एलेक्सा इसी से जुड़ा रहेगा. 'फूड बडी' को एलेक्सा के जरिए जैसे ही कमांड मिलेगी वह चालू हो जाएगा. थाली में रखे भोजन को चम्मच से मुंह में खिला देगा. आईआईटी गांधीनगर के छात्र क्रिस फ्रांसिस और प्रवीण वेंकटेश ने इसे बनाया है. दोनों छात्रों का कहना है उनका फूड बडी एलेक्सा के जरिये आवाज की कमांड लेगा. छात्रों ने इसे पेटेंट कराने के लिए भेज दिया है. उम्मीद है यह जल्द ही बाजार में उपलब्ध होगा.

'एलेक्सा' के जरिए कमांड मिलने के बाद 'फूड बडी' में लगे बटन को स्टार्ट करते ही उपकरण शुरू हो जाएगा. 'फूड बडी' को स्टार्ट, बीच में रोका (रिज्यूम) किया जा सकता है. इसे बनाने वाले फ्रांसिस आईआईटी से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, वेंकटेश इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं. फ्रांसिस और वेंकटेश का कहना है कि जिनके हाथ नहीं फूड बडी खासतौर पर उनके लिए परेशानी खत्म करने वाला साबित होगा.

'फूड बडी' जैसे उपकरण अंतरराष्ट्रीय बाजार में पहले से मौजूद हैं लेकिन वे काफी महंगे हैं. IIT के छात्रों ने अपने उपकरण में सस्ते और बेहतर गुणवत्ता वाले पुर्जे, अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया है, जिससे इसकी कीमत काफी कम हो सकती है.

ये भी पढ़ें-
AIIMS ने निकाली 199 वैकेंसी, pgirec.pgimer.edu.in से करें अप्लाई
इस शख्स ने शुरू किया स्टॉर्टअप, भिखारियों को देता है जॉब
Loading...

रेलवे में होगी 50 असिस्टेंट सॉफ्टवेयर इंजीनियर की भर्ती, पढ़ें पूरी जानकारी
First published: July 19, 2019, 12:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...