केंद्रीय शिक्षा मंत्री का ऐलान, इंडियन साइन लैंग्वेज को देशभर में मानकीकृत करेगी सरकार

केंद्रीय शिक्षा मंत्री का ऐलान, इंडियन साइन लैंग्वेज को देशभर में मानकीकृत करेगी सरकार
भारत में 18 लाख बधिर हैं.

निशंक ने कहा, जहां संभव एवं प्रासंगिक हो, वहां स्थानीय सांकेतिक भाषाओं का सम्मान किया जाएगा और उनका शिक्षण दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार भारतीय संकेत भाषा को को देशभर में मानकीकृत करेगी. छात्रों के लिए इससे संबंधित राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर की पाठ्यक्रम सामग्री विकसित की जाएगी. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को यह जानकारी एक ट्वीट के माध्यम से दी.

बधिर विद्यार्थियों द्वारा उपयोग 
रमेश पोखरियाल ने लिखा, इंडियन साइन लैंग्वेज (ISL) को पूरे देश में मानकीकृत किया जाएगा. राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर की पाठ्यक्रम सामग्री विकसित की जाएगी, जो बधिर विद्यार्थियों द्वारा उपयोग की जाएगी.

निशंक ने कहा, जहां संभव एवं प्रासंगिक हो, वहां स्थानीय सांकेतिक भाषाओं का सम्मान किया जाएगा और उनका शिक्षण दिया जाएगा.
देखें ट्वीट-





ये भी पढ़ें-
NTA ने जारी की AIAPGET 2020 की तारीख, ऑफिशियल नोटिस पढ़ने के लिए क्लिक करें
NEET 2020: विदेशी छात्रों के लिए सुप्रीम कोर्ट ने निकाली राह, इस तरह दे सकेंगे नीट एग्जाम!

गौरतलब है कि ‘नेशनल एसोसिएशन ऑफ डीफ’ के आंकड़ों के अनुसार, भारत में 18 लाख बधिर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज