NEP में प्रोफेशनल एजुकेशन के साथ 6th क्लास से मिलेगी इंटर्नशिप

NEP में प्रोफेशनल एजुकेशन के साथ 6th क्लास से मिलेगी इंटर्नशिप
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले महीने ही नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी है.

अब बच्चों का मूल्यांकन रिपोर्ट कार्ड के आधार पर नहीं, बल्कि प्रगति कार्ड के आधार पर किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 13, 2020, 12:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत छठी कक्षा से ही व्यवसायिक शिक्षा के साथ इंटर्नशिप को जोड़ रहे हैं ताकि स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद छात्र कौशल सम्पन्न बन सकें.

छठी कक्षा से इंटर्नशिप 
‘कोविड-19 के बाद शिक्षा का स्वरूप’ विषय पर डिजिटल माध्यम से अपने संबोधन में निशंक ने कहा, ‘‘ हमारा प्रयास अकादमिक कार्यो को शिक्षणेत्तर गतिविधियों एवं व्यवसायिक शिक्षा के साथ जोड़ने पर है. नई शिक्षा नीति के तहत हम छठी कक्षा से ही व्यवसायिक शिक्षा को इंटर्नशिप से जोड़ रहे हैं . ’’

किताबी ज्ञान के साथ व्यावहारिक ज्ञान भी हासिल करें
उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि बच्चे किताबी ज्ञान के साथ व्यावहारिक ज्ञान भी हासिल करें ताकि स्कूली शिक्षा से निकले तो कोई न कोई कौशल लेकर निकलें .



3 से 6 वर्ष तक बच्चे के मस्तिष्क का सबसे अधिक विकास
केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘हमारा जोर स्कूली शिक्षा से ही कृत्रिम बुद्धिमतता, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पढ़ाने पर होगा. ’’ उन्होंने कहा कि 3 से 6 वर्ष तक बच्चे के मस्तिष्क का सबसे अधिक विकास होता है. ऐसे में हम तीन वर्ष तक आंगनवाड़ी शिक्षा पर जोर दे रहे हैं . इसलिये हम नई नीति में 5+3+3+4 पद्धति को लेकर आए हैं .

 भारतीय भाषाओं को सशक्त बनाना है
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने एक बार फिर दोहराया कि अंग्रेजी भाषा से किसी तरह का विरोध नहीं हैं लेकिन सरकार भारतीय भाषाओं को मजबूत बनाना चाहते हैं. निशंक ने कहा कि हम सभी भारतीय भाषाओं को सशक्त बनाने के पक्षधर हैं जिनमें संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल सभी भाषाएं शामिल हैं.

ये भी पढ़ें-
NEP के तहत 300 से ज्यादा कॉलेजों को मान्यता नहीं दे पाएंगे विश्वविद्यालय
IAS Success Story: 22 साल की उम्र में पहले अटेम्पट में पास की UPSC परीक्षा

उन्होंने कहा कि अब बच्चों का मूल्यांकन रिपोर्ट कार्ड के आधार पर नहीं, बल्कि प्रगति कार्ड के आधार पर किया जाएगा. इस कार्यक्रम में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने भी हिस्सा लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज