Chandrayaan-2 Lunar Mission: जब इस महिला ने संभाली चंद्रयान-2 मिशन की कमान

Chandrayaan-2 mission: र‍ितु श्रीवास्‍तव, जो मंगलयान म‍िशन की ड‍िप्‍टी ऑपरेशन डायरेक्‍टर हैं और 'मून मिशन' की म‍िशन डायरेक्‍टर बना दी गई हैं.

News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 12:52 PM IST
Chandrayaan-2 Lunar Mission: जब इस महिला ने संभाली चंद्रयान-2 मिशन की कमान
चंद्रयान-2 सितंबर में चांद के साउथ पोल पर उतरेगा.
News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 12:52 PM IST
Chandrayaan 2: चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण हो चुका है. इसे चंद्रमा के दक्ष‍िणी ध्रुव की स्‍टडी के ल‍िये तैयार क‍िया गया है. पूरी दुन‍िया में अपनी तरह का यह इकलौता ऐसा चंद्रयान है जो चंद्रमा के दक्ष‍िणी ध्रुव पर उपरेगा. धरती से चंद्रमा के दक्ष‍िणी ध्रुव तक पहुंचने में इस यान को 48 द‍िनों का वक्‍त लगेगा. यह मिशन वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत का नतीजा है. स्‍पॉटलाइट में भले ही यह बाहुबली रॉकेट हो, पर आप यह जरूर जानना चाहेंगे क‍ि आखि‍र इस मिशन की कमान क‍िसने संभाली. चंद्रयान-2 म‍िशन की कमान दरअसल, एक महिला के हाथ में है. वह हैं र‍ितु करिधाल श्रीवास्‍तव. र‍ितु कर‍िधाल श्रीवास्‍तव इस मि‍शन की निदेशक हैं.

र‍ितु श्रीवास्‍तव की बहन वर्षा कहती हैं क‍ि उनकी बहन हमेशा से परिवार का गौरव रहीं और अब चंद्रयान-2 के लॉन्‍च के बाद उनका सम्‍मान और बढ़ गया है. वर्षा बताती हैं क‍ि मां-पापा के असमय चले जाने के बाद र‍ितु ने ही उन्‍हें और उनके छोटे भाई रोह‍ित को संभाला. र‍ितु ने वर्षा और रोह‍ित को कभी मां की कमी महसूस नहीं होने दी.

पसंद आता है तारों का जहां...
वर्षा कहती हैं क‍ि ऐसी बहुत सी यादें हैं, जब वह अपनी मां और बहन र‍ितु के साथ तारों को देखा करती थीं. खासतौर से र‍ितु को तारों की दुन‍िया बहुत पसंद है. वह घंटों तारों को देखती रहती. कई बार तारों के समूह के बीच क‍िसी एक तारे की ओर द‍िखाकर मां से पूछ ल‍िया करती क‍ि उस तारे का कोई नाम है क्‍या. र‍ितु अपने भाई बहनों से हमेशा कहती हैं क‍ि अपनी सीमा को तोड़कर आगे बढ़ने को इच्‍छ‍ुक रहना चा‍ह‍िए.

साल 1997 में र‍ितु श्रीवास्‍तव को बेंगलुरु के इंडियन स्‍पेस र‍िसर्च ऑर्गेनाइजेशन, ISRO से कॉल आई थी. र‍ितु के माता-पिता के ल‍िये उन्‍हें बेंगलुरु जाकर काम करने की इजाजत देना आसान नहीं था. लेकिन उनके माता-प‍िता जानते थे क‍ि र‍ितु का यह सपना है. उनके पत‍ि अव‍िनाश और दो बच्‍चे आद‍ित्‍य-अनीषा का सबसे ज्‍यादा सपोर्ट रहता है. र‍ितु अपनी पूरी ऊर्जा और सारा समय अपने पैशन अगर दे पाती हैं, तो उसके पीछे उनके पत‍ि और बच्‍चों की समझ भी है.

चंद्रयान-2 की म‍िशन न‍िदेशक र‍ितु लखनऊ यूनिवर्स‍िटी से फ‍िज‍िक्‍स में ग्रेजुएट हैं. इसके साथ ही उन्‍होंने इंड‍ियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइंस से मास्‍टर्स क‍िया. इसरो से जुड़ने के बाद र‍ितु ने ऐरोस्‍पेस साइंस में भी ड‍िग्री हास‍िल की.

यह भी पढ़ें:
Loading...

जानना चाहते हैं अंतरिक्ष के रहस्य तो जानें ISRO से जुड़ने के तरीके


चंद्रयान-2: एक हफ्ते तक दिन-रात जुटे रहे 100 वैज्ञानिक, घर पर फोन तक नहीं किया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 12:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...