• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • मानव संसाधन मंत्रालय ने 2019-20 में जामिया के प्रदर्शन को पाया 'शानदार'

मानव संसाधन मंत्रालय ने 2019-20 में जामिया के प्रदर्शन को पाया 'शानदार'

 30 उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सेलेक्ट हुए हैं.

30 उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सेलेक्ट हुए हैं.

जामिया ने समग्र आकलन में 95.23 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं. विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर नजमा अख्तर ने उम्मीद जताई कि विश्वविद्यालय आगामी वर्षों में अपने प्रदर्शन में और सुधार करेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. जामिया मिल्लिया इस्लामिया के प्रदर्शन को अकादमिक वर्ष 2019-20 के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा किए गए केंद्रीय विश्वविद्यालयों के आकलन में 'शानदार' पाया गया.

    ओवर ऑल असेसमेंट में जामिया ने हासिल किए 95.23%
    मंत्रालय द्वारा विश्वविद्यालय को भेजे गए पत्र में बताया गया है कि जामिया ने समग्र आकलन में 95.23 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं. विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर नजमा अख्तर ने इस शानदार प्रदर्शन का श्रेय अच्छी गुणवत्ता के अध्यापन एवं प्रासंगिक अनुसंधान को दिया.

    प्रदर्शन में और सुधार की उम्मीद
    नजमा अख्तर ने उम्मीद जताई कि विश्वविद्यालय आगामी वर्षों में अपने प्रदर्शन में और सुधार करेगा. अख्तर ने कहा कि हालिया अतीत में विश्वविद्यालय ने जो चुनौतीपूर्ण समय देखा है, उसके मद्देनजर यह उपलब्धि और महत्वपूर्ण है.

    चुनौतीपूर्ण समय
    जामिया उस समय संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों का केंद्र बन गया था, जब दिल्ली के पुलिसकर्मियों ने पिछले साल 15 दिसंबर को परिसर में घुसकर पुस्तकालय में पढ़ रहे छात्रों पर कथित रूप से लाठीचार्ज किया था.

    पुलिस का कहना है कि वह संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में शामिल बाहरी लोगों की तलाश में परिसर में घुसी थी.

    चुनिंदा मानदंडों पर केंद्रीय विश्वविद्यालयों के प्रदर्शन का आकलन
    चुनिंदा अहम मानदंडों पर केंद्रीय विश्वविद्यालयों के प्रदर्शन के आकलन के उद्देश्य से विश्वविद्यालयों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के साथ एक त्रिपक्षीय सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करना होते हैं.

    जामिया मिल्लिया इस्लामिया सहमति पत्र पर सबसे पहले हस्ताक्षर करने वाला विश्वविद्यालय है. विश्वविद्यालय ने 2017 में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे.

    विश्वविद्यालयों के प्रदर्शन का आकलन छात्रों की विविधता एवं समता, संकाय गुणवत्ता एवं संख्या, अकादमिक परिणामों, अनुसंधान प्रदर्शन, पहुंच, संचालन, वित्त, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग एवं मान्यता और पाठ्येतर गतिविधियों के पैमानों पर किया जाता है.

    ये भी पढ़ें-
    गरीबी में नहीं पढ़ सकी बहन, मेहनत से भाई को पढ़ाया, पढ़ने जाएगा US
    RBSE 10th Result 2020 date: जुलाई अंत तक आएगा राजस्थान बोर्ड दसवीं का रिजल्ट

    NIRF में 10वें स्थान पर जामिया
    मंत्रालय के 'नेशनल इंस्टिट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क' (एनआईआरएफ) की पिछले महीने घोषित रैंकिंग में जामिया विश्वविद्यालय 10वें स्थान पर रहा था. 'समग्र' श्रेणी में विश्वविद्यालय को 16वां स्थान मिला था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज