लाइव टीवी

जेएनयू हॉस्टल फीस मामला: स्टूडेंट्स से मांगा जाएगा हल, उच्च-स्तरीय समिति का हुआ गठन

News18Hindi
Updated: November 24, 2019, 1:22 PM IST
जेएनयू हॉस्टल फीस मामला: स्टूडेंट्स से मांगा जाएगा हल, उच्च-स्तरीय समिति का हुआ गठन
सप्ताहभर से चल रहे छात्रों के विरोध परअब जेएनयू की ओर से अहम फैसला लिया गया है. (फाइल फोटो)

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हॉस्टल फीस (Hostel Fees) बढ़ने को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से नियुक्त तीन सदस्यीय उच्चाधिकार प्राप्त पैनल ने बातचीत की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 1:22 PM IST
  • Share this:
जेएनयू हॉस्टल फीस मामला: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्रों का हॉस्टल फीस बढ़ाए जाने को पूरी तरह वापस लेने की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन जारी है. सप्ताहभर से चल रहे छात्रों के विरोध पर अब जेएनयू की ओर से अहम फैसला लिया गया है, जिसमें छात्र प्रतिनिधियों की तरफ से हॉस्टल इश्यू पर हल ढूंढने के सुझाव प्राप्त करने के लिए सक्षम अधिकारी द्वारा एक उच्च-स्तरीय समिति (High-Level Committee) का गठन किया गया है.




इससे पहले फीस बढ़ने को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से नियुक्त तीन सदस्यीय उच्चाधिकार प्राप्त पैनल ने 22 नवंबर को विश्वविद्यालय पहुंचकर इस मुद्दे पर पक्षों के साथ बातचीत की थी. पैनल अपनी सिफारिशें अगले सप्ताह सौंपेगा.

मुलाकात से ठीक पहले छात्रों ने फीस वृद्धि को पूरी तरह वापस लेने की मांग करते हुए परिसर के भीतर ही मानव शृंखला बनाई थी. छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष एन. साई बालाजी ने कहा था, छात्र यहां उच्चाधिकार प्राप्त समिति का स्वागत करने के लिए खड़े हैं. छात्र उन्हें फीस बढ़ने के कारण हो रही सारी दिक्कतों के बारे में बताना चाहते हैं.
Loading...

शनिवार को भी छात्रों ने किया विरोध
छात्रावास शुल्क बढ़ाए जाने का विरोध कर रहे छात्रों के समर्थन में बड़ी संख्या में लोग शनिवार को दिल्ली की सड़कों पर उतर आए थे. इन प्रदर्शनकारियों में शिक्षक, छात्र, जेएनयू के पूर्व छात्र और नागरिक समाज के सदस्य शामिल थे. उन्होंने मंडी हाउस से मार्च शुरू किया और विश्वविद्यालय प्रशासन से शुल्क वृद्धि वापस लेने तथा सरकार से ‘सभी के लिए शिक्षा किफायती बनाने’ की मांग करते हुए नारे लगाए थे.

यह पहला मौका था जब सप्ताहभर से चल रहे छात्रों के विरोध प्रदर्शन में नागरिक समाज के सदस्यों ने भाग लिया था. प्रदर्शनकारियों ने मंडी हाउस क्षेत्र में एकत्र होकर पुलिस तैनाती के बीच मार्च करते हुए संसद की ओर बढ़ने की कोशिश की थी.

ये भी पढ़ें- Govt Jobs: प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 76 वैकेंसी
Govt Jobs in Maharashtra: सिटी कोऑर्डिनेटर के लिए 384 वैकेंसी, सैलरी 30000
बिहार की लेफ्टिनेंट शिवांगी बनेंगी नौसेना की पहली महिला पायलट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...