JEE Advanced 2020 Exam: ऐसे करें अंतिम समय में परीक्षा की तैयारी, एग्जाम क्रैक करने के लिए अपनाएं ये टिप्स और ट्रिक्स

जेईई एडवॉन्स परीक्षा को पास करने के लिए इन ट्रिक्स को अपनाएं.
जेईई एडवॉन्स परीक्षा को पास करने के लिए इन ट्रिक्स को अपनाएं.

JEE Advanced 2020 Exam: कुछ टिप्स और ट्रिक्स को अपनाकर आप जेईई एडवॉन्स की परीक्षा पास कर सकते हैं. अब सिर्फ दो दिन बचे हैं ऐसे में इन ट्रिक्स को अपनाकर एग्जाम क्रैक किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 6:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईआईटी कॉलेजों में एडमिशन के लिए JEE Advanced Exam 2020 का आयोजन देश के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर 27 सितम्बर (रविवार) को होगा. इस परीक्षा के लिए डेढ़ लाख से भी ज्यादा अभ्यर्थियों ने रजिस्टर कराया था. आईआईटी दिल्ली इस बार परीक्षा का आयोजन करवा रही है. परीक्षा के बाद रिजल्ट और कॉलेज आवंटन की प्रक्रिया शुरू होगी.

JEE अडवांस के लिए इस बार बारहवीं क्लास के निर्धारित न्यूनतम क्वालिफाई मार्क्स का नियम हटाकर 250000 अभ्यर्थियों को पात्र माना गया था लेकिन उतने रजिस्ट्रेशन देखने को नहीं मिले. JEE मैन्स का रिजल्ट आने के कुछ दिनों बाद ही अभ्यर्थियों को JEE Advanced की परीक्षा देनी पड़ेगी इसलिए तैयारी का समय ज्यादा नहीं मिला होगा. हालांकि जिन स्टूडेंट्स को JEE Advanced में आने का भरोसा था, उन्होंने पहले से तैयारी की होगी. अंतिम समय में इसकी तैयारी कैसी की जाए, उसके बारे में कुछ टिप्स यहाँ बताए गए हैं.

परीक्षा का अंतर समझें लेकिन मुश्किल नहीं मानें



JEE Advanced में गहराई से चीजें पूछी जाती है. इसे अलग परीक्षा जरुर मान सकते हैं मुश्किल नहीं मानें. यह छह घंटे की परीक्षा है इसलिए परीक्षार्थी की नर्व्स, धैर्य और स्वभाव देखा जाता है. अंतिम समय में ईमानदारी के साथ सही दिशा और सही अप्रोच के साथ तैयारी करने की जरूरत होती है.
NCERT की किताबें पढ़ें

यह बात आप भी जानते हैं कि JEE मेन्स में सिलेबस NCERT की किताबों से आया था. ऐसे में JEE Advanced में भी NCERT की किताबों से पढ़ना फायदेमंद रहेगा. स्टडी नोट्स को इन किताबों की मदद से ही बनाएं और पढ़ें.

मॉक टेस्ट

जितने ज्यादा मॉक टेस्ट आप देंगे, उतना ज्यादा ही पेपर के बारे में आपका अनुभव बढ़ेगा. समय के बारे में भी पता चलेगा. इससे स्पीड और सही जवाबों में वृद्धि होगी और पूरे सिलैबस का रिवीजन भी आप कर पाएंगे. कम से कम दो मॉक टेस्ट एक दिन में जरुर दें.

मजबूत विषय से करें शुरुआत

मजबूत विषय को पढ़ने से विश्वास में वृद्धि होती है. स्टूडेंट्स को उन सवालों को पहले लेना चाहिए जिनसे उन्हें विश्वास मिले और समय भी काफी कम खर्च हो. इससे अन्य मुश्किल विषयों को पढ़ने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

अच्छी तरह रणनीति बनाएं

पिछले ट्रेंड को देखें तो 45 से 55 फीसदी पेपर को अटेंड करने वाले स्टूडेंट्स ने न केवल आईआईटी के लिए कवालिफाई किया बल्कि उन्हें पसंद के अनुसार कॉलेज भी मिली. पूरी तरह योजना बनाकर की गई तैयारी से क्वालिफाई करने में परेशानी नहीं होती. 50 से 55 फीसदी सही सवाल अटेम्प्ट करने होंगे.

कुछ नया शुरू नहीं करें

जिन विषयों को अभी तक आपने पढ़ा है उन्हें ही पढ़ें. नया टॉपिक शुरू करने से उलझनें बढ़ती हैं. जिन विषयों के टॉपिक आपने अच्छी तरह समझे हैं, उनको रिवाइज करने से कॉन्सेप्ट पूरी तरह से क्लियर रहेगा. पहले से पढ़ी हुई चीजों में ही अपनी कमजोरियां दूर करें.

ये भी पढ़ें-
JNUEE एडमिट कार्ड 2020 jnuexams.nta.nic.in पर जारी, इस डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड
दिल्ली यूनिवर्सिटी के टीचर्स को मिलेगी रुकी हुई सैलरी, सरकार जारी करेगी करोड़ों का फंड


रिलैक्स रहकर पढ़ें

पढ़ते समय बीच में आराम करना जरूरी है. पढ़ते समय कुछ मिनटों का ब्रेक लेना सही होगा. इससे थकान भी नहीं होगी और पढ़ने में विश्वास भी बना रहेगा. दिमाग को आराम देना अहम चीज है. इसके अलावा पर्याप्त मात्रा में सोना भी जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज