बड़ी खबर: इस बार जिनका JEE Advanced छूटा, अगले साल उन्हें नहीं देना होगा JEE MAIN

जिन्होंने इस बार जेईई मेन परीक्षा पास की वे अगली बार सीधा जेईई एडवांस दे सकेंगे.
जिन्होंने इस बार जेईई मेन परीक्षा पास की वे अगली बार सीधा जेईई एडवांस दे सकेंगे.

उन उम्मीदवारों को जेईई-मेन फिर से पास नहीं करना होगा. उन्हें इस साल उनकी सफल योग्यता और पंजीकरण के आधार पर सीधे जेईई-एडवांस में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 2:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जिन उम्मीदवारों जेईई-एडवांस्ड 2020 में उपस्थित होने के लिए सफलतापूर्वक पंजीकरण किया था, लेकिन परीक्षा के लिए अनुपस्थित रहे, उन्हें 2021 में फिर से एग्जाम में बैठने की अनुमति दी जाएगी. उन्हें जेईई-मेन 2021 फिर से पास नहीं करना होगा. उन्हें सीधे जेईई-एडवांस परीक्षा में बैठने की अनुमति होगी. ये सुविधा सिर्फ COVID-19 के कारण एक बार के उपाय के रूप में होगी.

आईआईटी के संयुक्त प्रवेश बोर्ड ने लिया फैसला
आईआईटी दिल्ली द्वारा जारी किए गए एक बयान के अनुसार, यह निर्णय आईआईटी के संयुक्त प्रवेश बोर्ड (IITs’ Joint Admission Board, JAB) की आपातकालीन बैठक में लिया गया. बता दें कि इस साल आईआईटी दिल्ली ने ही ये परीक्षा आयोजित कराई थी.

पात्रता मानदंड में ढील (Relaxation in eligibility criteria)
महामारी को देखते हुए, JAB ने अपनी पात्रता मानदंड में ढील दी. इसके मद्देनजर सबसे पहले उन उम्मीदवारों के लिए अतिरिक्त प्रयास की अनुमति देने का निर्णय लिया जो JEE-Advanced में COVID-19 पॉजिटिव होने की वजह से उपस्थित नहीं हो पाए थे.



सभी उम्मीदवारों को अनुमति देने का निर्णय
JAB ने उन उम्मीदवारों के लिए विभिन्न विकल्पों पर चर्चा की, जिन्हें महामारी के कारण लगाए गए प्रतिबंधों के कारण परीक्षा में उपस्थित होने से रोका गया था. बोर्ड ने उन सभी उम्मीदवारों को अनुमति देने का निर्णय लिया, जिन्होंने सफलतापूर्वक JEE (एडवांस) 2020 में प्रदर्शित होने के लिए पंजीकरण किया था, लेकिन परीक्षा में अनुपस्थित रहे.

ये भी पढ़ें-
क्या सच में टल गई बिहार पुलिस भर्ती परीक्षा, जानिए सच्चाई 
यूपी शिक्षक भर्ती: आसान नहीं है शिक्षक बनने की राह, खड़ा हुआ नया विवाद

समान अवसर सुनिश्चित 
आईआईटी दिल्ली द्वारा जारी किए गए एक बयान के अनुसार, सभी को समान अवसर सुनिश्चित करने के लिए, उन उम्मीदवारों को जेईई-मेन को फिर से पास नहीं करना होगा, जो कि इस एग्जाम का पहला चरण है. उन्हें इस साल उनकी सफल योग्यता और पंजीकरण के आधार पर सीधे जेईई-एडवांस में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज