JEE के बाद 13 सितंबर को NEET के लिए NTA सैनिटाइजर्स, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ तैयार

JEE के बाद 13 सितंबर को NEET के लिए NTA सैनिटाइजर्स, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ तैयार
जेईई मेन परीक्षा 1 से 6 सितंबर तक हुई. नीट 13 सितंबर को है.

उम्मीदवारों को उचित सामाजिक दूरी के लिए 'dos and don'ts' के बारे में मार्गदर्शन करते हुए एक एडवाइजरी भी जारी की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 6, 2020, 3:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. JEE Main के बाद, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) अब 13 सितंबर को आयोजित होने वाले NEET के लिए कमर कस रही है. NEET के लिए 15 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया है. इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए 1 सितंबर से शुरू हुए जेईई मेन एग्जाम का 6 सितंबर, रविवार को आखिरी दिन है.

15.97 लाख उम्मीदवारों ने NEET के लिए रजिस्ट्रेशन किया
कोविड -19 महामारी के मद्देनजर दो बार स्थगित किए जाने के बाद सितंबर में ये महत्वपूर्ण परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं. एनटीए अधिकारियों के अनुसार, देश भर के 15.97 लाख उम्मीदवारों ने NEET के लिए पंजीकरण किया है. ये पेन-पेपर आधारित परीक्षा है.

सामाजिक दूरी को बनाए रखने के लिए, NTA की तैयारी
सामाजिक दूरी को बनाए रखने के लिए, NTA ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के लिए केंद्रों की संख्या को 2,546 से बढ़ाकर 3,843 कर दिया है. जबकि एक कमरे में उम्मीदवारों की संख्या को पहले ही 24 से घटाकर 12 कर दिया गया है.



परीक्षा केंद्रों के बाहर भी पर्याप्त इंतजाम
परीक्षा हॉल के बाहर सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए, उम्मीदवारों के प्रवेश और निकास पर एहतियात बरता जाएगा. परीक्षा केंद्रों के बाहर भी पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं, ताकि उम्मीदवारों के साथ लोग प्रतीक्षा करते समय पर्याप्त सामाजिक दूरी के साथ खड़े हो सकें. ये तमाम जानकारी NTA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली में 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स 21 सितंबर से गाइडेंस के लिए जा सकेंगे स्कूल
RRB NTPC, Group D Exam Dates: परीक्षा की तारीख हुई कंफर्म, जानें कब होगा एग्‍जाम

सामाजिक दूरी के लिए 'dos and don'ts' के लिए एडवाइजरी जारी
उम्मीदवारों को उचित सामाजिक दूरी के लिए 'dos and don'ts' के बारे में मार्गदर्शन करते हुए एक एडवाइजरी भी जारी की गई है. NTA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने आधिकारिक रूप से उम्मीदवारों की स्थानीय आवाजाही में समर्थन बढ़ाने के लिए राज्यों की सरकारों को भी लिखा है ताकि वे अपने परीक्षा केंद्रों पर समय पर पहुंच सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज