School Fees Matter: फीस न भरने पर स्कूल ने काटा शिक्षा मंत्री की नातिन का नाम

फीस जमा की तब उनकी नातिन का नाम स्कूल की ऑनलाइन कक्षा में वापस लिखा गया.
फीस जमा की तब उनकी नातिन का नाम स्कूल की ऑनलाइन कक्षा में वापस लिखा गया.

शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो ने फीस जमा की और निजी विद्यालयों की स्थिति का जायजा लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 4:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. झारखंड के बोकारो स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल ने समय पर फीस न भरने पर राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की नातिन का नाम काट दिया. मंत्री स्वयं फीस जमा करने स्कूल पहुंचे तब कहीं जाकर उनकी नातिन का नाम स्कूल की ऑनलाइन कक्षा में वापस लिखा गया.

नाम कटने की जानकारी मिलने पर पहुंचे स्कूल
शिक्षा मंत्री ने कहा कि नाम कटने की जानकारी मिलने पर वह बोकारो के चास स्थित डीपीएस स्कूल पहुँचे और नियमों के अनुसार अपनी नातिन की फीस जमा की.

 निजी विद्यालयों की स्थिति का जायजा लिया
महतो ने कहा कि उन्होंने फीस जमा की और निजी विद्यालयों की स्थिति का जायजा लिया. वहीं, इस घटना पर मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने तंज करते हुए कहा कि निजी स्कूलों की मनमानी का आलम सरकार को आईना दिखाने के लिए पर्याप्त है.



दिल्ली पब्लिक स्कूल की घटना तो उदाहरण मात्र 
प्रदेश भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि चास के दिल्ली पब्लिक स्कूल की घटना तो बस एक उदाहरण मात्र है. चूंकि यह मामला सूबे के शिक्षा मंत्री के घर से संबंधित था, इसलिए मंत्री आनन -फानन में स्कूल पहुंच गए.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली HC का सरकार को निर्देश, DU प्रोफेसरों की पेंडिंग सैलरी का करे रिव्यू
ई-रिक्शा ड्राइवर का बेटा लंदन के ballet school के लिए ‘क्राउडफंड’ से जुटा रहा फीस

सैकड़ों-हजारों अभिभावक निजी स्कूलों की मनमानी से परेशान
उन्होंने कहा कि हर दिन राज्य के सैकड़ों-हजारों अभिभावक निजी स्कूलों की मनमानी से परेशान हैं, लेकिन प्रदेश का शिक्षा मंत्रालय और राज्य सरकार इन स्कूलों के सामने असहाय हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज