कोरोनावायरस के बीच 5 लाख छात्रों ने दी ये परीक्षा, पूरे राज्य में बनाए गए 1 हजार से ज्यादा सेंटर

कोरोनावायरस के बीच 5 लाख छात्रों ने दी ये परीक्षा, पूरे राज्य में बनाए गए 1 हजार से ज्यादा सेंटर
कर्नाटक 2nd पीयूसी एग्जाम के लिए राज्य भर में एक हजार से ज्यादा परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देशभर में लागू किए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते परीक्षाओं पर काफी असर पड़ा है.

  • Share this:
Karnataka 2nd PUC exam 2020: कर्नाटक (Karnataka) में सेकंड ईयर प्री यूनिवर्सिटी कोर्स (second year pre-university course) यानी पीयूसी (PUC) के इंग्लिश का पेपर गुरुवार को आयोजित किया गया. इसमें सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पूरी तरह पालन करते हुए लाखों छात्रों ने हिस्सा लिया. इस परीक्षा को कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते मार्च में स्थगित कर दिया गया था. अनुमान के मुताबिक, इस परीक्षा में 5.59 लाख के करीब स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया. इसके लिए पूरे राज्य में एक हजार से भी ज्यादा परीक्षा केंद्र बनाए गए थे.

तीन महीने के स्थगन के बाद आयोजित हुई परीक्षा
दरअसल, ये परीक्षा पहले 23 मार्च को आयोजित की जानी थी, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इंग्लिश का पेपर नहीं कराया जा सका. हालांकि प्री यूनिवर्सिटी एजुकेशन डिपार्टमेंट (department of pre-university education) ने परीक्षा आयोजित कराने के लिए सभी तरह के सुरक्षा मानकों का पालन किया. इस दौरान एग्जाम हॉल को पूरी तरह सैनिटाइज किया गया. किस कमरे में कितने स्टूडेंट्स हैं और उनके बीच पर्याप्त दूरी है या नहीं, इन बातों का भी ध्यान रखा गया. थर्मल स्क्रीनिंग से लेकर मास्क जैसे उपायों को भी लागू किया गया.

ये भी पढ़ें
दिल्ली पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पदों पर हो रही बंपर भर्ती, जानें डिटेल


HPBOSE 12th Result:हिमाचल प्रदेश बोर्ड 12वीं के नतीजे जारी,hpbose.org पर देखें


शिक्षा मंत्री ने लिया हालात का जायजा
कर्नाटक (Karnataka) के प्राइमरी और सेकेंडरी एजुकेशन मिनिस्टर (Minister for Primary and Secondary Education) सुरेश कुमार (Suresh Kumar) ने इस दौरान बेंगलुरु स्थिति कई स्कूलों का दौरा कर हालात का जायजा भी लिया. इस तरह की खबरें आ रही थीं कि कुछ परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के नियमों का पालन नहीं किया गया और भारी बारिश से बचने के लिए स्टूडेंट्स, पेरेंट्स और स्टाफ भी एक ही जगह इकट्ठा हो गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज