Karnataka SSLC 10th Results 2020: 10 अगस्त को 3 बजे जारी होगा कर्नाटक बोर्ड 10वीं का रिजल्ट

कोरोना वायरस की वजह से नतीजे देरी से घोषित हो रहे हैं.
कोरोना वायरस की वजह से नतीजे देरी से घोषित हो रहे हैं.

कर्नाटक बोर्ड (Karnataka Board) 10वीं की परीक्षा में इस साल करीब साढ़े आठ लाख छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया है. स्टूडेंट्स अपना परिणाम बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट kseeb.kar.nic.in पर देख सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2020, 1:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्नाटक सेकंडरी एजुकेशन एग्जामिनेशन बोर्ड (Karnataka Secondary Education Examination Board) यानी केएसईईबी (KSEEB) के दसवीं के रिजल्ट को लेकर बनी असमंजस की स्थिति अब साफ हो गई है. कर्नाटक के प्राइमरी एंड सेकंडरी एजुकेशन मिनिस्टर एस. सुरेश कुमार ने साफ कर दिया है कि कर्नाटक बोर्ड की दसवीं क्लास का रिजल्ट 10 अगस्त को दोपहर 3 बजे जारी किया जाएगा. इस साल कर्नाटक बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में करीब साढ़े आठ लाख छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया है. बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट karresults.nic.in पर स्टूडेंट्स अपना परिणाम देख सकते हैं.

अगले हफ्ते जारी होगा रिजल्ट
दरअसल, कर्नाटक के प्राइमरी एंड सेकंडरी एजुकेशन मिनिस्टर एस. सुरेश कुमार ने पहले ऐलान किया था कि दसवीं के न​तीजे अगस्त के पहले हफ्ते में जारी कर दिए जाएंगे. मगर अब उन्होंने साफ कर दिया कि रिजल्ट अगले हफ्ते दस अगस्त को घोषित किया जाएगा.

साढ़े आठ लाख स्टूडेंट्स यहां देखें रिजल्ट
इस साल करीब साढ़े आठ लाख छात्र-छात्राओं ने कर्नाटक बोर्ड (Karnataka Board) की दसवीं की परीक्षा दी है. दसवीं क्लास की परीक्षाएं 27 मार्च से 9 अप्रैल तक आयोजित की जानी थी. मगर कोरोना वायरस की वजह से लागू किए लॉकडाउन के चलते ऐसा संभव नहीं हो सका और परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं. बाद में 25 जून से 4 जुलाई तक परीक्षाएं ली गईं. रिजल्ट जारी होने के बाद स्टूडेंट्स कर्नाटक बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट kseeb.kar.nic.in और karresults.nic.in पर अपना परिणाम देख सकते हैं.



ये भी पढ़ें
हरियाणा बोर्ड ने 8वीं क्लास को लेकर किया बड़ा फैसला, 11 साल बाद होगा ऐसा
प्राइवेट नौकरी छोड़ की तैयारी, अंतिम प्रयास में अभिनव बने आईएएस

रिजल्ट में हुई तीन महीने की देरी
पिछले साल कर्नाटक बोर्ड की दसवीं क्लास के रिजल्ट का ऐलान 30 अप्रैल को किया गया था. इस लिहाज से कोरोना वायरस की वजह से रिजल्ट जारी करने में पहले ही तीन महीने की देरी हो चुकी है. कर्नाटक बोर्ड के एक अधिकारी के अनुसार इस साल दसवीं की परीक्षा में 8 लाख 48 हजार 203 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया. प्रदेश भर में 2879 परीक्षा केंद्रों पर एग्जाम हुए. इस दौरान थर्मल स्कैनिंग से लेकर सोशल डिस्टेंसिंग तक सभी नियमों का पूरी तरह पालन किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज