9वीं, 11वीं में फेल छात्रों के लिए केंद्रीय विद्यालय ने लिया बड़ा फैसला, पढ़ें डिटेल

9वीं, 11वीं में फेल छात्रों के लिए केंद्रीय विद्यालय ने लिया बड़ा फैसला, पढ़ें डिटेल
पहले 9वीं, 11वीं में दो सब्जेक्ट्स में फेल छात्रों को पास होने के लिए सप्लीमेंट्री एग्जाम पास करना पड़ता था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इससे पहले 9वीं, 11वीं में दो सब्जेक्ट्स में फेल छात्रों को पास होने के लिए सप्लीमेंट्री एग्जाम पास करना पड़ता था.

  • Share this:
केंद्रीय विद्यालय ने 9वीं, 11वीं में फेल छात्रों के लिए बड़ा फैसला लिया है. kvs की एकैडमिक्स जॉइंट कमिशनर पिया ठाकुर की ओर से जारी पत्र के मुताबिक, जो छात्र 9वीं, 11वीं में एक या उससे ज्यादा सब्जेक्ट में फेल हैं, उन सभी स्टूडेंट्स को प्रोजेक्ट वर्क देकर अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा. यह कोविड -19 महामारी के मद्देनजर संघटन द्वारा लिया गया फैसला, मौजूदा परेशानियों में निकाल गया एक हल है.

इससे पहले 9वीं, 11वीं में दो सब्जेक्ट्स में फेल छात्रों को पास होने के लिए सप्लीमेंट्री एग्जाम पास करना पड़ता था. सप्लीमेंट्री एग्जाम पास करने के बाद ही वे 10वीं या 12वीं में जा पाते थे.

एकैडमिक्स जॉइंट कमिशनर पिया ठाकुर की ओर से जारी पत्र के मुताबिक, यदि कोई छात्र इन दो क्लास में कुल 5 सब्जेक्ट्स में फेल है, तो प्रोजेक्ट के आधार पर उन्हें मार्क्स दिए जाएंगे और स्कूल द्वारा उसका मूल्यांकन कर अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा.



ये भी पढ़े :-
बड़ी खबर : यूपी में आज से खुले स्कूल, इसलिए लिया गया फैसला, जानिए पूरी डिटेल
Air India Recruitment 2020: 1.5 लाख तक सैलरी, 22 जुलाई से पहले करें अप्लाई


बता दें कि केंद्रीय व‍िद्यालय की ओर से पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्रों का र‍िजल्‍ट ई-मेल और वाट्सऐप के जरिए 28 मार्च को ही जारी क‍िया जा चुका है. केंद्रीय विद्यालय संगठन (Kendriya Vidyalaya Sangathan) यानी केवीएस (KVS) ने 2020-21 सत्र के लिए पहले क्वार्टर की फीस ऑनलाइन माध्यम से ली है. मौजूदा समय में देश में लगभग 1200 केंद्रीय विद्यालय हैं, जिनमें 12 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं पढ़ाई कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading