बड़ी खबर: दोबारा खुलेंगे स्कूल-कॉलेज! सरकार ने लिया फैसला, जानें कैसे

बड़ी खबर: दोबारा खुलेंगे स्कूल-कॉलेज! सरकार ने लिया फैसला, जानें कैसे
वायरस के चलते स्कूल की पढ़ाई से करोड़ों छात्र दूर हो जाते हैं (file photo)

Lockdown 5.0: गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने पांचवे फेज़ के लॉकडाउन को बढ़ाने के साथ ही स्कूल-कॉलेजों को खोलने के बारे में भी फैसला लिया है. जानिए कब और कैसे खुलेंगे स्कूल-कॉलेज.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूरे देश में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा कर रखी है. 24 मार्च को शुरू हुए लॉकडाउन का चौथा (Lockdown) फेज़ चल रहा है जिसका आज अंतिम दिन है. जब से लॉकडाउन की घोषणा हुई है तब स्कूल-कॉलेजों को भी बंद कर दिया गया है और छात्रों ऑनलाइन माध्यमों से पढ़ाने की कोशिशें जारी हैं.

इन सबके बीच पैरेंट्स और छात्रों के मन में ज़रूर ये बात रहती है कि आखिर स्कूल-कॉलेज कब खुलेंगे और कब सामान्य परिस्थितियों में पढ़ाई शुरू होगी. सरकार भी लगातार इस पर विचार करती रही है. तो अब चौथे फेज़ के लॉकडाउन के खत्म होने पर सरकार ने इस पर फैसला ले लिया है.

जुलाई में खुलेंगे स्कूल-कॉलेज
सरकार ने फिलहाल पांचवे चरण का लॉकडाउन लागू कर दिया है. लेकिन इसमें कुछ रियायतें भी दी गई हैं. सरकार जारी लॉकडाउन को धीरे-धीरे तीन चरणों मे खत्म करना चाहती है. इसलिए सरकार का फैसला है कि इसके दूसरे चरण में राज्य सरकारों और संघ शासित प्रदेशों से सलाह लेने के बाद जुलाई महीने में स्कूल-कॉलेज, कोचिंग इन्स्टीट्यूट व दूसरे शैक्षणिक संस्थान खोले जा सकते हैं. राज्य सरकारों को इसके लिए कहा गया है कि वे स्कूल-कॉलेजों को खोलने के पहले पैरेंट्स व दूसरे संस्थानों से सलाह ज़रूर लें. हालांकि, कंटेनमेंट ज़ोन में 30 जून तक स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे.
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बारे में ट्वीट करके जानकारी दी



गाइड लाइन्स में क्या है?
इसके तीन फेज में बांटा गया है. इसमें पहले चरण में रेड जोन को छोड़कर सभी धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट खोले जाएंगे. दूसरे फेज में स्कूल-कॉलेज और फिर तीसरे फेज में इंटरनेशनल फ्लाइटों, मेट्रो रेल सेवाओं, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इनके जैसी बाकी जगहों को आम लोगों के लिए खोने जाने की बात कही गई है.

बोर्ड परीक्षा के लिए भी एचआरडी मंत्री ने जारी की थी गाइडलाइन
बता दें कि हाल ही में सीबीएसई बोर्ड ने भी बची हुई परीक्षा करवाने के लिए गाइडलाइन जारी की. इसके तहत छात्रों को अपने स्कूलों में ही परीक्षा देनी थी लेकिन बाद में छात्रों की परेशानियों को देखते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने घोषणा की कि छात्र अपने गृह जिले में ही परीक्षा दे पाएंगे, क्योंकि कुछ छात्र पढ़ने के लिए एक शहर से दूसरे शहर जाते हैं और लॉकडाउन के बाद वे अपने घर वापस लौट गए थे.

ये भी पढ़ें-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading