Maharashtra Board results 2020: जल्द जारी होगा 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, पढ़ें डिटेल

महाराष्ट्र में कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं.
महाराष्ट्र में कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं.

पिछले महीने महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में बढ़ते कोरोनावायरस मामलों के कारण विभिन्न विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को रद्द कर दिया था.

  • Share this:
बोर्ड रिजल्ट्स का दौर जारी है. देश के तमाम राज्यों के बोर्ड अपना-अपना रिजल्ट एक-एक कर जारी कर रहे हैं. महाराष्ट्र बोर्ड (Maharashtra Board) से दसवीं और बारहवीं के पेपर देने वाले छात्र नतीजों का इंतजार कर रहे हैं.

पिछले दिनों महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड आफ सेकेंडरी व हायर सेकेंडरी एजुकेशन मिनिस्टर शकुंतला काले ने एक वर्चुअल मीटिंग में जानकारी दी थी, महाराष्ट्र बोर्ड की दसवीं और बारहवीं क्लास के रिजल्ट (Class 10th and 12th Result) का ऐलान जुलाई में किया जाएगा. इस मुताबिक उम्मीद की जा रही है रिजल्ट जल्दी जारी किया जाएगा.

महाराष्ट्र में कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं. 13 जुलाई को 6,500 नए मामले आए. 193 मौतों हुईं. संक्रमण की संख्या 2,60,924 हो गई. मृत्यु का आंकड़ा 10,482 हो गया. इसी के साथ खबर आई कि महाराष्ट्र सरकार, राज्य में कोई फाइनल ईयर एग्जाम आयोजित नहीं करेगी.
12 जुलाई को अमिताभ बच्चन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद महाराष्ट्र के उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री, उदय सामंत ने कहा था, कोरोनवायरस राज भवन जैसी "सुरक्षित जगह" पर हो गया और उसने अमिताभ बच्चन को भी संक्रमित किया. क्या एचआरडी और यूजीसी अब सहमत होंगे कि परीक्षा आयोजित करना छात्रों के जीवन के साथ खिलवाड़ है.



पिछले महीने भी, महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में बढ़ते कोरोनावायरस मामलों के कारण विभिन्न विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को रद्द कर दिया था. साथ ही कहा था कि परीक्षण के लिए उपस्थित होने के इच्छुक उम्मीदवार अपने संबंधित संस्थानों को लिखित रूप में सूचित कर सकते हैं.

रूस में फंसे 480 भारतीय मेडिकल छात्र लौटे
इसके अलावा आज ही रूस में फंसे 480 भारतीय मेडिकल छात्र लौटे हैं. उन्होंने आदित्य ठाकरे से मदद के लिए  शुक्रिया कहा. लॉकडाउन प्रतिबंधों के कारण रुस में फंसे 480 भारतीय मेडिकल छात्र लौटे. को लेकर एक चार्टर्ड विमान सोमवार को मुंबई पहुंचा.

वापस लौटे कुछ छात्रों ने महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे को उनकी वापसी में मदद करने के लिए धन्यवाद दिया. शिवसेना के दक्षिण मुंबई के सांसद अरविंद सावंत ने न्यूज एजेंसी को बताया कि उनसे संपर्क करने वालों छात्रों को उन्होंने सलाह दी कि वे मदद के लिए ठाकरे को ट्वीट करें, क्योंकि ठाकरे कैबिनेट मंत्री होने के साथ ही प्रोटोकॉल विभाग के मंत्री भी हैं.

सोमवार को रूस से रॉयल फ्लाइट से लौटे छात्रों में 470 महाराष्ट्र के, चार केंद्र शासित प्रदेश दादर एवं नागर हवेली के, चार मध्य प्रदेश के और दो गोवा के थे. उड़ान की व्यवस्था करने वाली दिल्ली की ऑनलाइन टिकट कंपनी निक्स्टूर के निकेश रंजन ने बताया, प्रत्येक छात्र ने यात्रा के लिए 400 डॉलर (लगभग 30,000 रुपये) का भुगतान किया है.

उन्होंने कहा कि ठाकरे ने इन छात्रों की वापसी के लिए विदेश मंत्रालय (एमईए), राज्य सरकार और भारतीय दूतावास के साथ समन्वय करने में मदद की.

ये भी पढ़ें-
CBSE Board 12th Result 2020: जानिये दिल्‍ली में क‍ितने हुए फेल और क‍ितने पास
CBSE ने शुरू की पोस्ट-रिजल्ट काउंसलिंग, 1800 11 8004 पर करें कॉल

रूस में राज्य के लगभग 800 छात्र थे और हर कोई 'वंदे भारत मिशन' के तहत सरकार द्वारा आयोजित उड़ानों से वापस नहीं लौट सकता था. रंजन ने कहा, रूस के कुछ छात्रों ने यूक्रेन से हमारे छात्रों की वापसी के बारे में सुना और मुझसे संपर्क किया. मैंने आदित्य ठाकरे को ईमेल भी किया और चार्टर्ड फ्लाइट के बारे में ट्वीट किया जिसके बाद उन्होंने सहयोग किया. उन्होंने कहा, मैंने सात जुलाई को उन्हें प्रस्ताव भेजा था और छात्र अब घर वापस आ गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज