महाराष्ट्र सरकार राज्य में विशेष रूप से विकलांग छात्रों को दे रही है ऑनलाइन शिक्षा

महाराष्ट्र सरकार राज्य में विशेष रूप से विकलांग छात्रों को दे रही है ऑनलाइन शिक्षा
विशेष रूप से विकलांग छात्रों के लिए क्लास का आयोजन.

COVID-19 की स्थिति अभी भी नियंत्रण में नहीं है. वैक्सीन के अभाव में, विशेष रूप से विकलांग छात्रों के लिए शारीरिक कक्षाएं आयोजित करना संभव नहीं होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 9:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने बॉम्बे उच्च न्यायालय को सूचित किया कि वह राज्य में विशेष रूप से विकलांग छात्रों को ऑनलाइन कक्षाएं प्रदान कर रहे हैं. इन छात्रों ने विशेष स्कूलों और प्रशिक्षण केंद्रों में अध्ययन किया, जो महामारी के दौरान गैर-सरकारी संगठनों द्वारा मैनेज किया गया.

विकलांगों द्वारा विभिन्न मुद्दों पर परेशानी सामने आ रही है
सरकार ने याचिका के जवाब में हलफनामा दायर किया, जिसमें छात्रों द्वारा लॉकडाउन के दौरान विकलांगों द्वारा सामना किए जा रहे विभिन्न मुद्दों पर चिंता व्यक्त की गई, जिसके कारण राज्य में स्कूलों को बंद कर दिया गया.

विकलांग छात्रों के लिए शारीरिक कक्षाएं आयोजित करना संभव नहीं 
सामाजिक न्याय और विशेष सहायता विभाग के संयुक्त सचिव दिनेश डिंगले ने हलफनामा दायर किया. चूंकि COVID-19 की स्थिति अभी भी नियंत्रण में नहीं है. वैक्सीन के अभाव में, विशेष रूप से विकलांग छात्रों के लिए शारीरिक कक्षाएं आयोजित करना संभव नहीं होगा.



विकलांग व्यक्तियों के लिए ई-लर्निंग
विभिन्न स्कूलों में ई-लर्निंग शुरू करने के लिए महाराष्ट्र के विकलांग व्यक्तियों के लिए आयुक्तालय (Commissionerate) ने इस साल जून में प्रस्ताव दिया था. हलफनामे में यह भी बताया गया है कि 15 जून, 2020 से ऑनलाइन शिक्षा दिशा ऐप के माध्यम से उपलब्ध कराई गई.

विकलांग छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षा
जे वाकील एजुकेशनल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूशन ( Jay Vakeel Educational and Research Institution) अंतरिम रूप से विकलांग छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाओं के उद्देश्य के लिए नोडल एजेंसी के रूप में काम कर रहा था. एफिडेविट में कहा गया है, इस एजेंसी ने विशेष शिक्षकों का एक समूह बनाया है, जिन्हें ऑनलाइन शिक्षा के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया गया है.

इस तरह ले रहे हैं क्लास
विशेष रूप से विकलांग छात्र व्हाट्सएप, जूम मीटिंग, गूगल मीट, वीडियो रिकॉर्डिंग जैसे सोशल मीडिया ऐप के माध्यम से ऑनलाइन शिक्षा और शिक्षकों द्वारा होम विजिट का लाभ उठा रहे हैं.

ये भी पढ़ें-
NTA ने जारी की AIAPGET 2020 की तारीख, ऑफिशियल नोटिस पढ़ने के लिए क्लिक करें
NEET 2020: विदेशी छात्रों के लिए सुप्रीम कोर्ट ने निकाली राह, इस तरह दे सकेंगे नीट एग्जाम!

विकलांग छात्रों के लिए कोई दिशा-निर्देश तय नहीं
हलफनामा, अनमप्रेम नामक एक गैर सरकारी संगठन द्वारा दायर याचिका के जवाब में था, जिसमें कहा गया था कि सरकार ने केवल सामान्य विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाओं के लिए एक नीति बनाई है. इसमें विकलांग छात्रों के लिए कोई दिशा-निर्देश तय नहीं किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading