महाराष्ट्र: मेडिकल छात्रों की परीक्षा के लिए बने ये तीन प्लान, राज्यपाल ने की सराहना

महाराष्ट्र: मेडिकल छात्रों की परीक्षा के लिए बने ये तीन प्लान, राज्यपाल ने की सराहना
दिल्ली के इन हॉस्पिटलों के डॉक्टर सैलरी न मिलने से आर्थिक संकट का सामना करने की बात कह रहे हैं.

महाराष्ट्र राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) से मंत्री अमित देशमुख (Amit Deshmukh) ने मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज में परीक्षा के संचालन की विस्तृत योजना बताई.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने विश्वविद्यालयों के चांसलर के तौर पर महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज में परीक्षाएं आयोजित कराने की अनुमति दे दी है. राज्यपाल कोश्यारी ने यह अनुमति गुरुवार को दी. इसके साथ ही विश्वविद्यालय द्वारा प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज के अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज में परीक्षाएं होने का रास्ता साफ हो गया है. चिकित्सा, शिक्षा और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री अमित देशमुख ने राजभवन में गुरुवार सुबह राज्यपाल ने मुलाकात की. इस दौरान राज्यपाल ने इसकी मंजूरी देते हुए उनके समक्ष प्रस्तुत मेडिकल परीक्षा के संचालन के विस्तृत योजना की सराहना की.

अपने एक लेटर में मंत्री अमित देशमुख ने कहा कि महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज ने सर्वसम्मति से तीन वैकल्पिक प्लान के अनुसार 15 जुलाई से परिस्थितियों के अनुसार, अपनी सभी ग्रीष्मकालीन परीक्षाओं का संचालन करने का निर्णय लिया है.

बनाए गए हैं ये प्लान
पहले प्लान के अनुसार, अगर स्थिति अनुकूल रही तो थ्योरी पेपर 15 जुलाई से 15 अगस्त के बीच होगी. दूसरे प्लान के अनुसार, अगर कोरोना के कारण पहले प्लान के अनुसार, परीक्षाएं आयोजित नहीं हो सकी तो इसे 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित किया जाएगा. जब इन दोनों प्लान के अनुसार, अगर परीक्षाएं नहीं हो सकी तो उसके बाद यूनिवर्सिटी सेंट्रल मेडिकल काउंसिल के इस संबंध में दिशा-निर्देश लेगा. जिसमें ऑनलाइन परीक्षा कराने का विकल्प शामिल है.



विचार विमर्श के बाद लिया गया निर्णय


मंत्री ने राज्यपाल से कहा कि उन्होंने इस संबंध में यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी, प्रो-वीसी सहित सभी हितधारकों और नियामक अधिकारियों से विचार विमर्श किया है. मंत्री ने राज्यपाल को अवगत कराया कि विश्वविद्यालय ने परीक्षा की योजना तैयार करने से पहले भारतीय नर्सिंग परिषद, भारतीय चिकित्सा परिषद और अन्य केंद्रीय निकायों के साथ विचार-विमर्श किया था.

विश्वविद्यालय के प्रस्ताव को राज्यपाल से मिली मंजूरी से महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान के वाइस चांसलर को अवगत करा दिया गया है. जिन्होंने पहले ही राज्यपाल के कार्यालय को अलग से इसका प्रस्ताव प्रस्तुत किया था.

 

ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान के नापाक इरादों से बेखबर स्टूडेंट्स, नोटिस जारी कर किया गया आगाह

निजी स्कूल में हो रही थी मनमानी, ज्यादा फीस को लेकर भेजा गया नोटिस
First published: June 4, 2020, 10:06 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading