बड़ी बात : लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे अधिकतर पेरेंट्स, सामने आई ये वजह

बड़ी बात : लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे अधिकतर पेरेंट्स, सामने आई ये वजह
कोरोना वायरस के चलते देशभर में सभी शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए थे.

माना जा रहा है कि लॉकडाउन (Lockdown) खत्म होने के बाद जुलाई से अधिकतर राज्यों में स्कूल खोल दिए जाएंगे, हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पूरा ख्याल रखा जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए 17 मई तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया गया है. हालांकि अभी ये तय नहीं है कि इसे और आगे बढ़ाया जाएगा या नहीं, लेकिन इस बीच स्कूल खुलने को लेकर किए गए एक सर्वे में चौंकाने वाली बात सामने आई है. दरअसल, ये सर्वे देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में किया गया था. इसमें लोगों से पूछा गया था कि क्या वो लॉकडाउन खुलने के बाद अपने बच्चों को स्कूल भेजेंगे.

छह महीने तक बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते मुंबई के 24 प्रतिशत पेरेंट्स
इस सर्वे में मुंबई (Mumbai) के 54 प्रतिशत पेरेंट्स ने कहा है कि वो स्कूल खुलने के बाद करीब कम से कम एक महीने तक अपने बच्चों को पढ़ने नहीं भेजेंगे. इन पेरेंट्स ने ये भी कहा है कि बच्चों को स्कूल भेजने से पहले वो हालात की एक बार समीक्षा करेंगे और कोविड19 (Covid19) पर निगरानी रखेंगे, उसके बाद ही बच्चों को स्कूल भेजने का फैसला किया जाएगा. सर्वे में 24 प्रतिशत पेरेंट्स ने कहा कि वे अगले छह महीने तक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहेंगे.

जून-जुलाई से खुल सकते हैं स्कूल
ये सर्वे ऑनलाइन पेरेंटिंग प्लेटफॉर्म पेरेंटसर्किल ने किया था. सर्वे में 12 हजार से पेरेंट्स ने हिस्सा लिया. सर्वे में सामने आया कि भले ही सरकारें जून या जुलाई से स्कूल (School) दोबारा से खोलने की योजना बना रहे हैं, लेकिन पेरेंट्स अपने बच्चों को पढ़ने के लिए भेजने के लिए आश्वस्त नहीं हैं. बता दें कि कोरोना वायरस के चलते पिछले करीब डेढ़ महीने से देशभर के शिक्षण संस्थान बंद हैं.



छह महीनों तक बच्चों को बाहर खेलने नहीं भेजेंगे
इस सर्वे में पेरेंट्स से ये भी पूछा गया था कि वो अपने बच्चों को आउटडोर स्पोटर्स खेलने के लिए बाहर भेजने को लेकर कब निश्चिंत होंगे. इस पर मुंबई के 43 प्रतिशत पेरेंट्स ने कहा कि अगले छह महीने तक तो वो बच्चों को बाहर खेलने के लिए नहीं भेजेंगे. इतने ही प्रतिशत पेरेंट्स ने ये भी कहा कि वो बाकी बचे साल में मॉल या मूवी देखने नहीं जाएंगे.

बता दें कि महाराष्ट्र में शिक्षा विभाग शिक्षण संस्थानों को दोबारा खोलने को लेकर कई मीटिंग कर चुका है. शिक्षा विभाग के अधिकारी ने बताया कि ऐसे समय में वन यूनिफॉर्म पॉलिसी लागू करना संभव नहीं होगा इसलिए स्थानीय स्तर पर हालात के हिसाब से कदम उठाया जाएगा.

CBSE Board10वीं-12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन आज से शुरू, जानिए कब आएगा रिजल्ट

बड़ी खबर : NEET 2020 परीक्षा देने वालों को NTA ने किया आगाह, जारी किया नोटिस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading